विधायक मुन्नालाल गोयल लापता जान को खतरा, हाईकोर्ट में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर

अतुल सक्सेना//ग्वालियर।

मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की ग्वालियर खंडपीठ में कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल के लापता होने के मामले में एक बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर की गई हैं। याचिका में कहा गया कि कांग्रेस के विधायक मुन्नालाल गोयल को पिछले 9 दिनों से गायब है और उनकी जान का खतरा है और उनक कभी भी अनहोनी की घटना भो सकती है। याचिका में मांग की गई है कि इस मामले की जांच सीबीआई से कराई जाये और जो लोग दोषी है उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाये। याचिका में कहा कि मुन्नालाल गोयल के परिजनों से उनका कोई संपर्क नहीं हो पा रहा है विधायक गोयल के बेटे मयंक गोयल ने भी इस बारे में पिछले दिनों अपना बयान जारी किया था।

याचिकाकर्ता एडवोकेट उमेश बोहरे ने बताया है कि ग्वालियर पूर्व क्षेत्र के विधानसभा के विधायक मुन्नालाल गोयल के क्षेत्र की जनता पिछले 9 दिनों से परेशान हो रही है, उनके जनहित के कार्य नही हो पा रहे हैं।याचिका में मध्य प्रदेश शासन के प्रमुख सचिव ,गृह सचिव, पुलिस महानिदेशक, ,एसपी ग्वालियर और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ,बीजेपी के प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे को प्रतिवादी बनाया गया है साथ ही मामले की सीबीआई से जांच कराकर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाये।वही इस मामले की अगली सुनवाई होगी 19 मार्च को होगी।