सास, ससुर, देवर, ननद ने की सड़क पर मारपीट, महिला ने पुलिस में की शिकायत, सौंपा वीडियो

सरिता ने आरोप लगाया कि उसके सास ससुर मुझे मारपीट के झूठे केस में फंसाने की धमकी देते हैं, सरिता ने कहा कि इस ताजा घटना का तो वीडियो भी बना हो जो उसने पुलिस को सौंपा है  उसने उम्मीद की कि इस बार उसे न्याय मिलेगा

Gwalior News

Gwalior News : महिला सशक्तिकरण, महिला सम्मान की बड़ी बड़ी बातों के बीच महिला प्रताड़ना की बातें भी उतनी ही आम हैं, इस देश में रोज महिला प्रताड़ित होती है लेकिन उसकी सुनवाई कहीं नहीं होती, ये हम नहीं वो महिला माह रही है जिसे उसकी सास, ससुर , देवर और ननद ने सड़क पर पीटा, उसके मुताबिक उसके साथ ऐसा कई बार हो चुका, उसने पुलिस में शिकायत भी लेकिन कहीं स एकोई मदद नहीं मिली , इस बार तो उसने सबूत के तौर पर पुलिस को वीडियो भी सौंपा है।

ग्वालियर के हजीरा थाना क्षेत्र में रहने सरिता परमार एसपी ऑफिस पहुंची थी उसने कहा कि उसका पति ड्राइवर है वो बाहर रहता है, वो पिछले दिनों मायके गई थी लौटकर जब आई तो सास ससुर ने उसके कमरे में ताला लगा दिया उसने विरोध किया तो उसके साथ मारपीट करने लगे।

सास, ससुर, देवर, ननद पर मारपीट के आरोप 

सरिता ने कहा कि उसके साथ सास, ससुर, दोनों देवर और ननद आये दिन पति की गैर मौजूदगी में मारपीट करते हैं वो चाहते हैं कि हम घर से निकल जाएँ, उसने कहा कि जब जब उसके साथ मारपीट हुई उसने हर बार हजीरा थाना, महिला थाना में शिकायत की लेकिन पुलिस ने उसकी कोई सुनवाई नहीं की।

पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने के आरोप 

सरिता ने आरोप लगाया कि उसके सास ससुर मुझे मारपीट के झूठे केस में फंसाने की धमकी देते हैं, सरिता ने कहा कि इस ताजा घटना का तो वीडियो भी बना हो जो उसने पुलिस को सौंपा है  उसने उम्मीद की कि इस बार उसे न्याय मिलेगा, उधर एडिशनल एसपी निरंजन शर्मा ने कहा कि महिला से आवेदन लिया है और हजीरा थाने को इसपर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं ।

ग्वालियर से अतुल सक्सेना की रिपोर्ट 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News