बड़ी खबर : एमपी हाई कोर्ट ने नर्सिंग परीक्षा पर लगाई रोक, एक्जाम कंट्रोलर को नोटिस जारी

MP High Court bans nursing exam : मध्य प्रदेश हाई कोर्ट की ग्वालियर बेंच ने एक बड़ा फैसला लेते हुए प्रदेश भर में आयोजित हो रही बीएससी नर्सिंग सेकंड ईयर की परीक्षा पर रोक (MP High Court ban on BSC Nursing second year exam) लगा दी है। कोर्ट ने 1 और 6 दिसंबर को आयोजित हो चुकी परीक्षा को कापियों को सील करने के आदेश भी दिए है, इस मामले में हाई कोर्ट ने मेडिकल यूनिवर्सिटी के एक्जाम कंट्रोलर को नोटिस देकर तलब किया है।

19 सितंबर को मेडिकल यूनिवर्सिटी ने जारी किया आदेश

दरअसल 19 सितंबर को जबलपुर आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय (Jabalpur Medical University) ने एक आदेश जारी किया था जिसमें बीएससी नर्सिंग के सेकंड ईयर की परीक्षा 2022 का टाइम टेबल जारी किया था और इस परीक्षा में ऐसे स्टूडेंट्स को बैठने की अनुमति दी थी जिनके कॉलेज की ना तो सम्बद्धता थी और ना ही उनका रजिस्ट्रेशन था।

ग्वालियर हाई कोर्ट ने आदेश पर रोक लगाई

याचिकाकर्ता एडवोकेट उमेश बोहरे ने मेडिकल यूनिवर्सिटी के आदेश और पूर्व में हुए नर्सिंग कॉलेज फर्जीवाड़े की तरफ कोर्ट का ध्यान दिलाया, हाई कोर्ट ने याचिका की सुनवाई करते हुए मेडिकल यूनिवर्सिटी के 19 सितम्बर 2022 के आदेश और अधिसूचना पर रोक लगाते हुए बीएससी सेकंड ईयर की परीक्षा पर रोक लगा दी और 1 एवं 6 दिसंबर को आयोजित की गई परीक्षा की कापियों को सील करने के आदेश दिए।

एक्जाम कंट्रोलर को तलब किया

हाई कोर्ट की ग्वालियर बेंच ने याचिका की सुनवाई के बाद मेडिकल यूनिवर्सिटी जबलपुर ने एक्जाम कंट्रोलर को 4 जनवरी को पूरे दस्तावेजों के साथ ग्वालियर हाई कोर्ट (Gwalior High Court) में पेश होने का आदेश दिया है।

ग्वालियर से अतुल सक्सेना की रिपोर्ट