नगरीय निकाय चुनाव : आम आदमी पार्टी ने जारी की पहली सूची, 42 उम्मीदवार शामिल

एक सवाल का जवाब देते हुए मनीक्षा सिंह तोमर ने कहा कि यदि ग्वालियर में हमारी पार्टी की नगर सरकार बनती है तो हम अपने फॉर्मूले कमर्शियल टैक्स हाफ, हॉउस टैक्स माफ़ को अपनाएंगे।   

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  नगरीय निकाय चुनावों (MP urban body elections)  के लिए जहां कांग्रेस (MP Congress) और भाजपा (BJP Madhya Pradesh) जैसे बड़ी पार्टियां अपने उम्मीदवार तय नहीं कर पा रही हैं ऐसे में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) ने बाजी मारते हुए आज अपनी पहली सूची जारी कर दी। आम आदमी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष मनीक्षा सिंह तोमर ने ग्वालियर में पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि आज पार्टी ने ग्वालियर चम्बल संभाग के लिएपहली सूची जारी की है।

मनीक्षा सिंह तोमर ने कहा पार्टी ने आज जारी सूची में ग्वालियर, अशोकनगर और मुरैना के लिए 42 प्रत्याशियों की सूची जारी की है।  उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी ने नाम तय करते समय प्रत्याशी की योग्यता, उसके प्रोफेशन और उसके कैरेक्टर पर भी ध्यान दिया है। हमने साफ सुथरा, पढ़ा लिखा प्रत्याशी मैदान में उतारा है।  ग्वालियर (Gwalior News) की बात करते हुए उन्होंने बताया कि अभी 11 नाम हैं जिनमें हमारे पार्टी के पुराने चेहरों के साथ नए चेहरे भी शामिल हैं , वहीं डबरा में 2 प्रत्याशी डबरा से उतारे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी नगरीय निकाय चुनावों में बहुत अच्छा प्रदर्शन करेगी।

ये भी पढ़ें – सतना : सांसद गणेश सिंह के भाई की सोशल मीडिया पर की पोस्ट ने मचाया हड़कंप

महापौर पद के प्रत्याशी के सवाल के जवाब में प्रदेश उपाध्यक्ष ने कहा कि हमारे पास 5-6 सशक्त महिला उम्मीदवार हैं जिनके नाम पर  मंथन चल रहा है दो तीन दिन में घोषणा हो जाएगी। एक सवाल का जवाब देते हुए मनीक्षा सिंह तोमर ने कहा कि यदि ग्वालियर में हमारी पार्टी की नगर सरकार बनती है तो हम अपने फॉर्मूले कमर्शियल टैक्स हाफ, हॉउस टैक्स माफ़ को अपनाएंगे।

ये भी पढ़ें – भोपाल : दिग्विजय सिंह के आरोप, प्रतिशोध की भावना से बनाए जा रहे आपराधिक प्रकरण

कांग्रेस के प्रत्याशी घोषित नहीं होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वहां आपस में ही झगडे हो रहे हैं। उन्हें अभी पता ही नहीं है कि वार्ड भी जीत पाएंगे कि नहीं ? भाजपा में भी बहुत लम्बी लाइन है पार्टी को समझ ही नहीं आ रहा कि नरेंद्र सिंह तोमर के लोगों को टिकट दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के लोगों को या किसी और वरिष्ठ नेता के लोगों को।