नरोत्तम का कमलनाथ पर तंज-” ये तो मैनेजमेंट गुरु थे, प्रबंधन कैसे फेल हुआ”

ग्वालियर।अतुल सक्सेना।

उपचुनावों (BY Election) से पहले लगातार तीन सप्ताह में तीसरी बार ग्वालियर यात्रा (gwalior tour) पर आये गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा (Home and Health Minister Dr. Narottam Mishra) की नेताओं से मुलाकातों ने हलचल तेज कर दी है। हालांकि डॉ मिश्रा ने इस दौरे में केवल पूर्व मंत्री लाल सिंह आर्य (Former Minister Lal Singh Arya) से मुलाकात की। पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में डॉ मिश्रा ने कमलनाथ (kamalnath) पर तंज कसते हुए कहा कि वे तो मैनेजमेंट गुरु कहलाते थे फिर प्रबंधन फेल कैसे हो गया।

पिछले दो दौरों में पार्टी के चार दिग्गजों पूर्व मंत्री अनूप मिश्रा, पूर्व मंत्री माया सिंह, पूर्व मंत्री नारायण सिंह, पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया और सिंधिया समर्थक पूर्व मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, पूर्व मंत्री इमरती देवी और पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल से एकांत चर्चा कर चुके गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने बीती रात ग्वालियर आकर पूर्व मंत्री लाल सिंह आर्य से मुलाकात की। समझा जाता है कि आने वाले विधानसभा उपचुनाव को लेकर उन्होंने श्री आर्य से एकांत में चर्चा की। क्योंकि गोहद में भी उपचुनाव होना है, यहां से श्री आर्य ने भाजपा से पिछला विधानसभा चुनाव लड़ा था और अब इस सीट से उपचुनाव में भाजपा में आए रणवीर जाटव का नाम है। चर्चा है कि पूर्व मंत्री आर्य भी नाखुश है इसलिए डॉ मिश्रा उन्हें पार्टी का संदेश देने आये थे।

मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कमलनाथ सरकार पर जमकर निशाना साधा। जब डॉ मिश्रा से यह सवाल पूछा गया कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ 22 जयचंदों को सबक सिखाने की बात कर रहे हैं? इसपर डॉ मिश्रा ने अपने चिर परिचित अंदाज में कहा कि यह तो खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे जैसी बात है, क्योंकि कांग्रेस की टूटन से सरकार गिरी। डॉ मिश्रा ने कमलनाथ पर तंज निशाना साधते हुए कहा उनका प्रबंधन पूरी तरह फेल हुआ, वैसे वह मैनेजमेंट गुरु कहलाते थे। इसके पहले वे सिम्स अस्पताल पहुंचे। वहां उन्होंने हिंदू जागरण मंच के प्रांत मंत्री बसंत गोडियाले का हाल जाना। पिछले दिनों उनके ऊपर हमला हुआ था। डॉ मिश्र के साथ भाजपा के महानगर अध्यक्ष कमल मखीजानी, दीपक शर्मा, विनोद शर्मा सहित अन्य भाजपा नेता मौजूद थे।