ग्वालियर/अतुल सक्सेना

5 अप्रैल को ग्वालियर जिला कोरोना मुक्त हो गया था। यहाँ मिले दो पॉजिटिव मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आईं थी जिसके बाद प्रशासन ने सुकून की सांस ली थी। लेकिन दो दिन बाद मंगलवार 7 अप्रैल को चार मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से प्रशासन के चेहरे पर चिंता की लकीरें फिर बढ़ गई हैं।

ग्वालियर के लिए मंगलवार कोई राहत भरी खबर लेकर नहीं आया। जयारोग्य अस्पताल से जारी मेडिकल बुलेटिन में चार मरीजों के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। इनमें ढोली बुआ का पुल निवासी एक महिला, आमखो निवासी महिला, उप नगर ग्वालियर निवासी एक पुरूष और एक अन्य महिला के नाम शामिल हैं। इसके अलावा मुरैना में भी एक 70 वर्षीय वृद्ध की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी हैं। इधर ग्वालियर के सभी मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद तत्काल नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इन मरीजों के घर पर सेनेटाइजर छिड़ककर आइसोलेट कर दिया और परिवार के लोगों को होम क्वारेंटाईन कर दिया है।

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पॉजिटिव आये मरीजों के परिजनों के सेम्पल लेकर जांच के लिए भेज दिये हैं। मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक ग्वालियर चंबल संभाग के अलग अलग जिलों से गजरा राजा मेडिकल कॉलेज की माइक्रोबायोलॉजी लैब में कोरोना की जांच के लिए 90 सेम्पल पहुंचे थे जिसमें से पांच की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसमें दो मरीज जयारोग्य अस्पताल के दो जिला अस्पताल के और एक मरीजों मुरैना का सेम्पल आया था। इन सभी मरीजों को उचित इलाज के लिए सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।