ग्वालियर मेले में वाहनों की बिक्री पर छूट के लिए नोटशीट तैयार, कैबिनेट के फैसले का इंतजार

ग्वालियर। उत्तर भारत के ऐतिहासिक ग्वालियर व्यापार मेले को भव्यता प्रदान करने एवं इसकी रौनक और व्यापार बढ़ाने के लिए प्रदेश सरकार तेजी से प्रयास कर रही है। इस बार भी वाहनों की बिक्री पर 50 प्रतिशत  टैक्स में छूट की मांग की गई है। जिसपर परिवहन मंत्री ने भरोसा दिलाया है कि छूट की घोषणा जल्दी होगी। 

ग्वालियर व्हीकल डीलर्स एसोसियेशन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने आये परिवहन मंत्री गोविन्द मंत्री ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ग्वालियर का मेला ऐतिहासिक है मैं जब छोटा  था तब मैंने यहाँ बड़ी बड़ी गाड़ियों के अलावा घोड़े,ऊंट  आदि बिकते देखे हैं। मैंने खुद इस मेले से दो बार महिंद्रा की जीप और घोड़े ख़रीदे हैं। कांग्रेस की सरकार के समय इसकी रौनक बढ़ी थी लेकिन पिछली भाजपा सरकार ने 15 साल में इसकी रौनक और व्यापार बढ़ाने के लिए कुछ नहीं किया लेकिन  प्रदेश में फिर से हमारी सरकार बनने के बाद हम फिर से इसकी भव्यता लौटाने का प्रयास कर रहे हैं। मंत्री ने कहा कि व्हीकल डीलर्स और जनता टैक्स में 50 प्रतिशत की छूट की मांग कर रही है इसके लिए सिंधिया जी ने भी मुख्यमंत्री जी को पत्र लिखा है। जिस पर मुख्यमंत्री जी ने सहानुभूतिपूर्वक विचार किया है।  मैंने भी विभागीय स्तर पर चर्चा करने के बाद नोटशीट तैयार कर मुख्यमंत्री जिनके पास भेज दी है चूँकि अभी वो बाहर है और छूट का फैसला कैबिनेट की बैठक में लिया जायेगा इसलिए उनके आते ही इस पर फैसला होगा कि कितनी छूट दी जाएगी । 

पीसीसी अध्यक्ष के लिए सिंधिया सबसे सही नाम

पीसीसी अध्यक्ष के सवाल पर मंत्री गोविन्द राजपूत ने कहा कि सभी चाहते हैं कि प्रदेश अध्यक्ष का फैसला जल्दी होना चाहिए। मुख्यमंत्री खुद चाहते हैं कि वो एक जिम्मेदारी से मुक्त हो। लेकिन फैसला हाईकमान को करना है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता और जनता भी चाहती है कि सिंधिया जी ही अध्यक्ष बने । क्योंकि प्रदेश  अध्यक्ष के लिए उनसे अच्छा दूसरा नाम नहीं हो सकता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here