NSUI का जीवाजी विश्वविद्यालय पर हल्ला बोल, पुलिस ने चलाई लाठी, पानी की बौछार की

पुलिस ने लाठीचार्ज करने के बाद NSUI कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। जीवाजी विश्वविद्यालय (Jiwaji University Gwalior) में नव नियुक्त कुलपति अविनाश तिवारी को हटाने की मांग को लेकर NSUI ने आज मंगलवार को जीवाजी विश्वविद्यालय का घेराव किया और जमकर हंगामा किया। प्रदर्शनकारी छात्रों ने पुलिस बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की तो पुलिस ने उनपर वाटर केनन से पानी की बौछार की और लाठी चार्ज कर गिरफ्तार कर लिया।

NSUI का जीवाजी विश्वविद्यालय पर हल्ला बोल, पुलिस ने चलाई लाठी, पानी की बौछार कीNSUI का जीवाजी विश्वविद्यालय पर हल्ला बोल, पुलिस ने चलाई लाठी, पानी की बौछार की

NSUI प्रदेश अध्यक्ष मंजुल त्रिपाठी के नेतृत्व में छात्रों ने जीवाजी विश्वविद्यालय का घेराव किया।  बड़ी संख्या में जीवाजी विश्वविद्यालय पहुँचे NSUI से जुड़े छात्रों ने कुलपति अविनाश तिवारी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगते हुए उन्हें हटाकर धारा 52 लगाने की मांग की।

ये भी पढ़ें – बड़ी खबर : लता मंगेशकर कोरोना पॉजिटिव, ICU में भर्ती

NSUI के प्रदर्शन को रोकने के लिए पुलिस ने  जीवाजी विश्वविद्यालय के गेट पर बैरिकेड लगा दिए थे और भारी पुलिस बल तैनात कर दिया था। लेकिन आक्रोशित छात्रों पुलिस बैरिकेड पर चढ़ गए।  पुलिस ने रोकने का प्रयास किया , वाटर केनन से पानी की बौछार की लेकिन जब छात्र नहीं माने तो पुलिस ने लाठीचार्ज करते हुए उन्हें तितर बितर कर दिया और गिरफ्तार कर लिया।

ये भी पढ़ें – कैबिनेट मंत्री ने दिया इस्तीफा, भाजपा सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

एडिशनल एसपी राजेश दंडोतिया ने बताया कि छात्रों को समझाने की कोशिश की गई लेकिन जब नहीं माने तो वाटर केनन छोड़ी गई फिर भी नहीं माने तो लाठीचार्ज किया गया। इनके खिलाफ कोरोना गाइडलाइन के उल्लंघन और शासकीय कार्य में बाधा का मामला दर्ज किया जायेगा।  उधर NSUI छात्र नेताओं ने चेतावनी दी कुलपति हटाओ विश्वविद्यालय बचाओ आंदोलन जारी रहेगा भले ही इसके लिए कितनी भी बार जेल क्यों ना जाना पड़े।