लापरवाही करने पर अधिकारी और स्टाफ पर गाज, हाउसिंग आयुक्त ने वेतन रोका

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। मध्यप्रदेश हाउसिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर बोर्ड के आयुक्त भरत यादव ने ग्वालियर हाउसिंग बोर्ड सर्किल के उपायुक्त का स्टाफ सहित वेतन रोकने के आदेश दिए हैं। वे शुक्रवार को पर्यावास भवन में बोर्ड के अधिकारियों के साथ वर्चुअल टी.एल. बैठक में कार्यो की समीक्षा कर रहे थे। उन्होने संपत्ति के संबंध में नोटिस डिस्ट्रीब्यूशन के लिए सभी अधिकारियों को 10 नवंबर तक का टारगेट पूरा करने के लिए कहा है।

IAS Transfer: MP में हुए IAS अधिकारियों के तबादलें, यहां देखें लिस्ट

आयुक्त भरत यादव ने ग्वालियर बोर्ड के अधिकारियों को सम्पत्ति से संबंधित मात्र 29 नोटिस तामील करने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने संपत्ति अधिकारी को भी इस संबंध में सतर्कता बरतने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होने इंदौर के अधिकारी यशवंत दोहरे से उनके स्वास्थ्य की जानकारी भी ली। यशवंत दोहरे आपरेशन के बाद घर से ही वर्चुअली बैठक में शामिल हुए थे। आयुक्त ने खंडवा में और अधिक तेजी से काम करने के लिए कहा। जबलपुर में जबलपुर सर्किल 2 को छोड़कर शेष सभी जगह संपत्ति संबंधी नोटिस की तामीली में प्रोग्रेस की है। रीवा इस कार्य में प्रदेश में दूसरे नंबर पर आया है।

हाउसिंग बोर्ड की मुख्य प्रशासनिक अधिकारी बिदिशा मुखर्जी ने सभी अधिकारियों को ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि इससे जहां समय की बचत होती है, वहीं आम आदमी को कार्यालय के चक्कर नहीं लगाना पड़ते। अधिकारियों को मार्केटिंग पर केंद्रित प्रजेन्टेशन के माध्यम से व्यवसायिक प्रतिस्पर्धा की स्थिति में कार्य-कुशलता बढ़ाने एवं ग्राहक को संतुष्ट करने के तरीके बताए गए।