कृषि बिल का विरोध, किसानों ने घेरी कमिश्नरी, बिल वापस होने तक लड़ाई जारी रखने का लिया संकल्प

ग्वालियर, अतुल सक्सेना| कृषि बिल को लेकर आज देशभर में किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं| इसी क्रम में आज ग्वालियर में हजारों की संख्या में किसानों ने कमिश्नरी का घेराव किया, तथा कानून वापिस होने तक संघर्ष जारी करने का संकल्प पारित किया गया |

अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के तहत आयोजित कार्यक्रम के संयोजक अखिलेश यादव ने बताया की संसद में अलोकतांत्रिक ढंग से किसान बिल का पारित किए जाने से देश भर के किसानों में आक्रोश भड़क गया है, आज इस आंदोलन के पहले चरण में ग्वालियर में किसान जनता ने फूलबाग से रैली निकालकर मोतीमहल कमिश्नरी पर प्रदर्शन किया|

सभा मे वक्ताओं ने कहा कि किसान बिल खेती औऱ किसानी को बर्बाद कर देगा, इसमे न्यूनतम समर्थन मूल्य की कोई गारंटी नही है, इस बिल से देशी बिदेशी कंपनियों को खेती और जमीन पर कब्जा करने का अवसर मिल जाएगा, इसलिए जब तक यह बिल वापिस नही लिया जाता तबतक इस बिल का विरोध जारी रहेगा| कार्यक्रम संयोजक अखिलेश यादव के मुताबिक आगामी दिनों में बैठक करके आंदोलन की अगली रणनीति की घोषणा की जाएगी|

आज के इस प्रदर्शन को पूर्व विधायक बृजेन्द्र तिवारी, डॉ सुनीलम, जिला पंचायत सदस्य पप्पन यादव, गुलाब सिह किरार, वीरपुर बांध बचाओ संघर्ष समिति के सुग्रीव सिंह कुशवाह मध्यप्रदेश किसान सभा के रामबाबू जाटव, रामकिशन सिंह कुशवाह, आदि ने संचालन किया , सभा का संचालन अखिलेश यादव द्वारा किया गया| इस आंदोलन को समर्थन देने सीटू के प्रदेश अध्यक्ष राम विलास गोस्वामी, महिला नेत्री प्रीति सिंह, छात्र नेता आकांशा धाकड़, ओ बी सी महासभा से विजय कुमार, आदि भी आंदोलन में शामिल हुए थे|

कृषि बिल का विरोध, किसानों ने घेरी कमिश्नरी, बिल वापस होने तक लड़ाई जारी रखने का लिया संकल्प कृषि बिल का विरोध, किसानों ने घेरी कमिश्नरी, बिल वापस होने तक लड़ाई जारी रखने का लिया संकल्प