जब गंदे पानी पर जनता ने सुनाई खरी-खोटी तो अफसरों पर भड़के मंत्री, इंजीनियर सस्पेंड

people-complaint-Dirty-water-minister-angry-on-officers-engineer-suspend

ग्वालियर। मध्यप्रदेश सरकार के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर को आज जनता ने उस समय खरी खोटी सुना दी जब वे गंदे पानी की सप्लाई  को लेकर जनता से बात करने पहुंचे थे। जनता की नाराजगी देख मंत्री तोमर ने निगम आयुक्त को फटकारा और दोषी पर कार्रवाई के लिए कहा जिसके बाद एक आयुक्त ने एक सब इंजीनियर को सस्पेंड कर दिया।

दरअसल पिछले करीब चार महीने से ग्वालियर शहर की एक बड़ी आबादी पीला,गन्दा और बदबूदार पानी पीने के लिए मजबूर है। अधिकारियों से लेकर जन प्रतिनिधि यहाँ तक कि विशेषज्ञ भी मोतीझील प्लांट का निरीक्षण कर चुके लेकिन समस्या का निदान नहीं हुआ। पिछले दिनों मंत्री तोमर खुद पूरी रात अपने ही विधानसभा में घुमे थे तब भी उन्हें पानी को लेकर जनता की नाराजगी झेलनी पड़ी थी। आज भी यही हुआ मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर महलगांव पहुंचे और लोगों से पानी की समस्या के बारे में पूछा तो लोगों ने घेर लिया। महिलाओं ने तोमर को खूब सुनाई। । लोगों ने कहा कि हम आपको पहले भी इस समस्या के बारे में बता चुके है लेकिन कोई हल नहीं निकला। अधिकारी सुनते नहीं है तो समाधान कैसे होगा। जनता के गुस्से को को देखते हुए मंत्री तोमर ने निगम अधिकारियों को फटकार लगाते हुए तत्काल समाधान करने और लापरवाही बरतने वालों पर कार्रवाई की हिदायत दी। इसके बाद मंत्री के साथ मौजूद निगमायुक्त संदीप माकिन ने पीएचई के सब इंजीनियर एसपी श्रीवास्तव को सस्पेंड करने के निर्देश मौके पर ही दे दिए। मंत्री ने जनता को भरोसा दिलाया कि हम सब आपके साथ है और जल्दी ही इस समस्या से छुटकारा मिल जायेगा।