IPS अभद्रता मामले में पुलिस ने की दो FIR, 10 जूनियर डॉक्टर्स सहित अन्य के नाम, कॉलेज भी लेगा एक्शन

एसएसपी ने मीडिया को बताया कि मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने हमारे साथ बैठक की है। उन्होंने भी अपनी तरफ से अनुशासनात्मक कार्रवाई का भरोसा दिया है। 

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। जूनियर डॉक्टर्स द्वारा IPS ऋषिकेश मीणा के साथ की गई अभद्रता (Junior doctors misbehave with IPS)  के बाद पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए दो अलग अलग एफआईआर झांसीरोड थाने में दर्ज की गई है। इसमें 10 जूनियर डॉक्टर के खिलाफ नामजद और कुछ अन्य मेडिकल स्टूडेंट्स के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा सहित IPC की अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज किया गया है।

ग्वालियर के जीआर मेडिकल कॉलेज (GR Medical College Gwalior) के सीनियर बॉयज हॉस्टल के जूनियर डॉक्टर्स द्वारा शराब पीने से टोकने पर जिस तरह से गश्त पर निकले सीएसपी मुरार/डीएसपी क्राइम ऋषिकेश मीणा (IPS) के साथ अभद्रता की गई , उनका मोबाइल  छीनकर गटर में डाला गया, गाड़ी की चाबी छीन ली, उनकी गाड़ी की हवा निकाल दी और IPS के PSO के साथ मारपीट की उससे मेडिकल कॉलेज प्रबंधन भी सकते में आ गया।

ये भी पढ़ें – जूनियर डॉक्टर्स ने IPS के साथ की अभद्रता, मोबाइल और चाबी छीनी, PSO के साथ की मारपीट, पुलिस छावनी बना हॉस्टल

घटना को गंभीरता से लेते हुए ग्वालियर पुलिस ने इस मामले में दो अलग अलग एफआईआर झांसीरोड थाने में दर्ज की।  एडिशनल एसपी मृगाखी डेका ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ को मोबाइल पर बताया कि एक एफआईआर शराब पीकर तेज गति से गाड़ी चलाने वाले जूनियर डॉक्टर के खिलाफ की गई है और दूसरी एफआईआर IPS से अभद्रता करने और उनके PSO के साथ मारपीट करने वाले जूनियर डॉक्टर्स के खिलाफ की गई है।  इसमें 10 जूनियर डॉक्टसर और अन्य के नाम शामिल हैं।

ये भी पढ़ें – लंपी वायरस को लेकर पशुपालन विभाग ने जारी किया अलर्ट, जिला प्रशासन को दिए ये निर्देश

घटना के बाद मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ अक्षय निगम ने प्रबंधन के अन्य वरिष्ठ सदस्यों के साथ एसपी ऑफिस पहुंचकर एसएसपी अमित सांघी के साथ बैठक की।  एसएसपी ने मीडिया को बताया कि मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने हमारे साथ बैठक की है। उन्होंने भी अपनी तरफ से अनुशासनात्मक कार्रवाई का भरोसा दिया है।

ये भी पढ़ें – Indian Railways Update : IRCTC ने आज रद्द की 236 ट्रेन, यहां देखें पूरी लिस्ट

अमित सांघी ने कहा कि सभी ने इस बात को माना कि सीएसपी IPS Rishikesh Meena अपनी ड्यूटी कर रहे थे जबकि जूनियर डॉक्टर सड़क पर शराब पी रहे थे और उन्हें टोकने पर ये विवाद हुआ। एसएसपी ने कहा कि अब इस मामले में नामजद एफआईआर हो गई है और आगे वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।