दबंगों ने किया नाबालिग से गैंगरेप, थाने में सुनवाई नहीं तो SP से लगाई गुहार

police-not-action-after-gangrape-victim-reached-sp-office-

ग्वालियर । शहर के देहात थाना क्षेत्र में एक नाबालिग के साथ बंदूक की नोक पर गैंगरेप का मामला सामने आया है। इस घटना को अंजाम खदान माफियाओं ने दिया है। परिजनों का आरोप है कि थाना प्रभारी ने उनकी मदद नहीं की उल्टा उनसे राजीनामा कराने का दबाव बनाया है। परिजनों का कहना है कि आरोपी दबंग है अब उन्हें जन से मारने की धमकी दे रहे हैं लेकिन पुलिस कोई मदद नहीं कर रही।  जिसकी शिकायत परिजनों ने एसपी से की है उधर एसपी ने पूरी बात सुनने के बाद जांच के आदेश दिए हैं।

गिजौर्रा थाना क्षेत्र में आने वाले ग्राम धरमपुरा के रहने वाला कुशवाह परिवार मेहनत मजदूरी कर गुजर बसर करता है। परिवार के मुखिया का आरोप है कि 24 जून की देर रात नीतू राजा  परमार, अमित यादव और सागर यादव बंदूक लेकर घर में घुस आये और उसके सिर पर बंदूक लगाकर उसकी नाबालिग बेटी के बारे में पूछा और उसकी बेटी को कमरे में से उठाकर खेतों में ले गए और वहां अन्य 4 लोग और मौजूद थे जहां उस नाबालिग के साथ सभी ने बारी बारी से सामूहिक दुष्कर्म किया और फरार हो गए जब बेटी को पिता ने आसपास तलाशा दो वह उन्हें खेतों में बेसुध पड़ी हुई मिली।  इलाज के बाद होश आने पर बच्ची ने उसके साथ हुई दुष्कर्म की घटना बताई। बच्ची के पिता उसको थाने लेकर पहुंचे और अपनी आपबीती थाना प्रभारी को सुनाई जिस पर थाना प्रभारी ने खदान माफिया होने के कारण मामला छेड़छाड़ और पास्को एक्ट में लगा दिया लेकिन बच्ची का मेडिकल परीक्षण नहीं कराया उसे घर भेज दिया साथ ही थाना प्रभारी ने उन पर दवाब बनाया कि राजीनामा कर लो नहीं तो वह तुम्हें जान से मार देंगे। पिता और बेटी के थाने पहुँचने की खबर के बाद दबंग रेत माफिया ने पिता को जान से मारने की धमकी दी उन्होंने थाना प्रभारी संतोष यादव को इसकी शिकायत की लेकिन उन्होंने फिर राजीनामा करने की सलाह दी । परेशान पिता  आज अपनी पीड़ित नाबालिग बच्ची को लेकर एसपी (प्रभारी) अमन सिंह राठौर के पास पहुंचा और कार्रवाई की गुहार लगाई। एसपी ने एसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आश्वासन दिया है कि उन आरोपियों को जल्द पकड़ा जाएगा साथ ही थाना प्रभारी के खिलाफ जांच कर कार्रवाई की बात भी कही है।