गायों को बचाने के लिए नगर निगम का नया प्रयोग

अतुल सक्सेना/ग्वालियर। गायों को बचाने के लिए नगर निगम द्वारा नये-नये प्रयोग किये जा रहे हैं। इसी के तहत अपर आयुक्त नरोत्तम भार्गव की पहल पर बाजार से जब्त की गई, पॉलीथिन और वेस्टेज प्लास्टिक से गाय का मॉडल बनाकर स्टेशन के पास लगाया गया और लाइटिंग कर चौराहे को वेस्टेज वस्तुओं से सजाया गया है जो आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। ग्वालियर नगर निगम की गौशाला के पशु चिकित्सक डॉ. उपेन्द्र यादव ने बताया कि प्लास्टिक से हो रही गौ वंश की मौत और पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए गाय का मॉडल बनाकर स्थापित किया गया है। साथ ही उन्होंने बताया की गायों की मौत का प्रमुख कारण गायों के पेट से भारी मात्रा में पॉलीथीन की थैलियां बल्कि प्लास्टिक की बोतलों के ढक्कन, लोहे की कीलें, सिक्के, ब्लेड, पत्थर और मंदिरों में चढ़ावे से निकला कचरा शामिल है। गायों के पेट में इतना कचरा जमा हो जाता है कि चारे के लिए जगह ही नहीं बचती और भूख से उनकी मौत हो जाती है। उनमें खून की कमी होती है और उनका पेट प्लास्टिक खाने से फूला होता है जिसके चलते उन्हें बचा पाना मुश्किल होता है। इसलिए गायों को बचाने के लिए जन जागरूकता जरूरी है।