धारा 144 के बीच सड़क पर सरेआम फायरिंग, दो घायल, दहशत में लोग

ग्वालियर।

शहर में भले ही धारा 144 लागू हो और पुलिस अलर्ट मोड पर हो लेकिन बदमाशों को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। बीती रात ग्वालियर में आपसी रंजिश में बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी । जिसमें एक राहगीर और एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया । दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है । खास बात ये है कि घटनाक्रम पुलिस थाने से महज 100 मीटर दूर का है। 

दरअसल ग्वालियर में बदमाशों के हौसले बुलंद हैं। पुलिस की मार और सतर्कता उन्हें विचलित नहीं करती। बीती रात इसका उदाहरण देखने को मिला। जिला अस्पताल मुरार के सामने देर रात चाट के ठेले पर दो पक्षों में विवाद हो गया जिसमें गोलियां चल गईं। पुलिस के अनुसार आपसी रंजिश और रंगदारी को लेकर दो पक्ष भिड़ गए। पुलिस ने बताया कि गरम सड़क मुरार का रहने वाला राजेश गुर्जर अपने साथी विजय प्रताप ,अजीत राणा और दिव्यांश के साथ घर के पास ही चाट खाने आये थे।

इसी दौरान प्रदीप पाठक आया और राजेश पर  कमेन्ट कसने लगा। उसने टोका तो प्रदीप ने धक्का दे दिया और मारने के लिए पत्थर उठा लिया। इसी बीच प्रदीप के अन्य साथी वहां आ गए । दोनों पक्षों में मारपीट होने लगी। प्रदीप ने पत्थर फेंके और कमर में लगी पिस्टल निकाली और फायरिंग शुरू कर दी। एक गोली विजय प्रताप के पैर में धंस गई। प्रदीप ने राजेश पर निशाना साधते हुए एक गोली और चलाई लेकिन राजेश झुक गया तो वहां से निकल रहे श्रीकांत के गोली का छर्रा धंस गया। गोली चलने से क्षेत्र में दहशत फ़ैल गई। बाद में बदमाश भाग गए।

बड़ी बात ये है कि ये घटनाक्रम करीब आधा घंटा चला लेकिन महज 100 मीटर की दूरी पर मौजूद पुलिस थाने को इसकी भनक नहीं लगी। किसी ने जब पुलिस को  इसकी सूचना दी तब पुलिस ने घायलों को अस्प्तल पहुंचाया। बहरहाल अयोध्या मामले को लेकर बढाई गई सतर्कता और धारा144 के बीच हुई ये घटना पुलिस की सक्रियता और सुरक्षा व्यवस्था की हकीकत बता रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here