राजनीति की दुर्लभ तस्वीर : आरोपों- प्रत्यारोपों के भले ही चलें वार, कायम हैं संस्कार

जब कांग्रेस विधायक डॉ सतीश सिकरवार से मीडिया ने सवाल किया तो उन्होंने कहा कि मुन्नालाल गोयल हमारे बड़े हैं, मेरे पिताजी के पुराने साथी हैं, चाचा लगते हैं इसलिए हम उनका सम्मान करते हैं ये हमारे संस्कार है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर में आज एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जो आज के राजनीतिक परिदृश्य के हिसाब से दुर्लभ कही जा सकती है। पूरा वाकया एक दूसरे के राजनीतिक विरोधी नेताओं के मिलन से जुड़ा हुआ है। इस घटनाक्रम में सिर्फ मिलन ही नहीं हुआ, अभिवादन भी हुआ और चरण स्पर्श भी हुआ। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

ग्वालियर चंबल संभाग के सबसे बड़े राजनीतिक चेहरे या यूँ कहें ग्वालियर चंबल संभाग (Gwalior Politics) में कांग्रेस को स्थापित करने वाले नेताओं में से एक माधव राव सिंधिया की आज 21वीं पुण्यतिथि (death anniversary of madhav rao scindia) है। पूर्व केंद्रीय मंत्री माधव राव सिंधिया ने हमेशा दलगत भावना से ऊपर उठकर राजनीति की और उनकी पुण्यतिथि पर पुष्पांजलि के दौरान ऐसा ही एक दृश्य सामने आया जिसमें राजनीति के धुर विरोधी मुस्कुराते हुए आमने सामने आये और अभिवादन कर छोटे ने बड़े के पैर छुए।

ये भी पढ़ें – रिश्वतखोर रेलवे इंजीनियर को चार साल का सश्रम कारावास, ये है पूरा मामला

कटोराताल स्थित सिंधिया राजवंश की छत्री पर श्रद्धांजलि के दौरान कांग्रेस नेत्री और महापौर डॉ शोभा सिकरवार अपने पति कांग्रेस विधायक डॉ सतीश सिकरवार (Congress MLA Dr Satish Sikarwar) और जिला अध्यक्ष डॉ देवेंद्र शर्मा और अन्य कांग्रेस नेताओं के साथ पहुंची थी।जब वे श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद वहां चर्चा कर रही थी तभी मप्र बीज निगम के अध्यक्ष मुन्नालाल गोयल (MP Seed Corporation President Munnalal Goyal) भी वहां पहुंचे।

ये भी पढ़ें – सीएम शिवराज ने छात्र-छात्राओं को दिए जीवन मंत्र, कुछ संकल्प दिलाए और एक वचन दिया

मुन्नालाल गोयल को देखते ही विधायक सतीश सिकरवार ने उनका हाथ जोड़कर अभिवादन किया और जैसे ही वे उनके नजदीक आये कांग्रेस विधायक ने झुककर उनके पैर छुए, पास खड़ी महापौर शोभा सिकरवार (Gwalior Mayor Dr Shobha Sikarwar) ने भी हाथ जोड़कर अभिवादन किया और झुक कर पैर छुए। आपस में किसी ने कुछ ऐसी बात कही कि सभी लोग जोड़कर ठहाका लगाकर हंस पड़े।

अब आप सोच रहे होंगे कि दो अलग अलग राजनीतिक दल के नेता सामने मिलने पर एक दूसरे का अभिवादन तो करते ही हैं , छोटे नेता बड़ों के पैर भी छूते हैं तो ये तस्वीर दुर्लभ कैसे है? तो हम आपको बताते हैं कि जिस समय ये घटनाक्रम हुआ वो बहुत महत्वपूर्ण है इसलिए ये मिलन दुर्लभ है और तस्वीर दुर्लभ है।

ये भी पढ़ें – MP Transfer : राज्य शासन ने तीन IAS अधिकारियों के तबादले किये, देखें लिस्ट

दरअसल ग्वालियर में पिछले कुछ दिनों से शहर की बदहाल सड़कों को लेकर राजनीतिक बयानबाजी हो रही है। मप्र बीज निगम के अध्यक्ष (राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त) सिंधिया समर्थक नेता मुन्नालाल गोयल ने उनकी विधानसभा की सड़कों के गड्ढे भरने के लिए नगर निगम कमिश्नर किशोर कन्याल और महापौर डॉ शोभा सिकरवार को पत्र लिखा। पत्र में 15 दिन का अल्टीमेटम देते हुए गड्ढे नहीं भरे जाने पर महापौर कार्यालय पर धरना देने की चेतावनी दी।

ये भी पढ़ें – बड़े भाई माधव राव सिंधिया को याद कर भावुक हुईं यशोधरा राजे, कांग्रेस ने भी किया नमन लेकिन तोड़ी ये परंपरा

भाजपा नेता मुन्नालाल गोयल की चेतावनी पर कांग्रेस महापौर शोभा सिकरवार और उनके विधायक पति डॉ सतीश सिकरवार ने पलटवार करते हुए कहा कि 40 साल तक ग्वालियर में भाजपा की नगर निगम थी और 18 साल से प्रदेश में भाजपा की सरकार है तब सड़कों की याद नहीं आई। अब केवल दो महीने में महापौर और कांग्रेस से उम्मीद लगा रहे हैं।  कांग्रेस ने कहा कि यदि वे महापौर कार्यालय पर धरना देंगे तो कांग्रेस ज्योतिरादित्य सिंधिया के महल के बाहर धरना देगी। इस बयानबाजी के बीच इन धुर विरोधियों का मिलन दर्लभ ही कहा जायेगा।

इस पूरे घटनाक्रम पर जब कांग्रेस विधायक डॉ सतीश सिकरवार से मीडिया ने सवाल किया तो उन्होंने कहा कि मुन्नालाल गोयल हमारे बड़े हैं, मेरे पिताजी के पुराने साथी हैं, चाचा लगते हैं इसलिए हम उनका सम्मान करते हैं ये हमारे संस्कार है। लेकिन यदि वे कुछ उलटी सीधी बात करेंगे तो उन्हें समय आने पर जवाब दिया जायेगा, वे सत्ता के नशे में मदहोश हैं उन्हें सिंधिया जी की कृपा से कुर्सी मिली है राज्यमंत्री का दर्जा मिला है।