17 साल का रिकॉर्ड टूटा, नैनीताल-मसूरी से भी कम ग्वालियर का तापमान

ग्वालियर। कड़ाकेदार सर्दी के लिए पहचाने जाने वाले ग्वालियर अंचल में दिसंबर के पहले सप्ताह में ही ठंडक ने अपना अहसास कराना शुरू कर दिया है। जम्मू-कश्मीर में हो रही बर्फ़बारी के कारण ग्वालियर का तापमान नैनीताल और मसूरी से भी कम दर्ज किया गया। 

सर्द हवाओं ने ग्वालियर में रात के तापमान को अभी से बहुत नीचे पहुंचा दिया है। बुधवार को ग्वालियर का न्यूनतम तापमान 5.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि बुधवार को नैनीताल का तापमान 7 और मसूरी का तापमान 7.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इससे 17 साल पहले तापमान बहुत नीचे पहुंचा था। मौसम विभाग के आंकड़ों के मुताबिक 4 दिसंबर 2002 को ग्वालियर का न्यूनतम तापमान 7.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। मौसम वैज्ञानिकों की माने तो आने वाले 24 घंटों में तापमान और नीचे गिरेगा जम्मू कश्मीर में हो रही बर्फ़बारी का असर अंचल में देखने को मिलेगा और सर्द हवाओं के कारण तापमान 1 से 2 डिग्री तक नीचे गिरेगा।