उद्धव सरकार में घमासान, BJP महाराष्ट्र सह प्रभारी पवैया का बड़ा बयान

MLC चुनावों में महा विकास अघाड़ी सरकार के केवल 5 उम्मीदवार जीतकर आये, जिसके बाद उद्धव सरकार पर खतरा मंडरा रहा है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। महाराष्ट्र के MLC चुनावों में उद्धव सरकार (Uddhav Sarkar) को बड़ा झटका लगा है। चुनावों में महा विकास अघाड़ी सरकार (Maha Vikas Aghadi Government) के केवल 5 उम्मीदवार जीतकर आये, जिसके बाद उद्धव सरकार पर खतरा मंडरा रहा है। इस राजनीतिक संकट पर भारतीय जनता पार्टी के महाराष्ट्र सह प्रभारी जयभान सिंह पवैया का बड़ा बयान सामने आया है।

उद्धव सरकार को मिली हार के बाद उसके सीनियर नेता और सरकार में मंत्री एकनाथ शिंदे (Minister Eknath Shinde) ने बागी तेवर अपना लिये हैं।  वह पार्टी के तकरीबन 20 विधायकों को लेकर गुजरात के सूरत पहुंच गए हैं, सूत्रों के अनुसार विधायकों की संख्या 35 तक पहुँच गई है , बताया जा रहा है कि शिंदे दोपहर करीब 2 बजे शिंदे अहम प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले हैं। दूसरी तरफ सीएम उद्धव ठाकरे भी एक्शन मोड में आ गए हैं वे भी गठबंधन के साथ बैठक कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें – MPPSC-2021: यह आपत्तिजनक सवाल, जांच में दोषी को बख्शा नहीं जाएगा-मंत्री सारंग

महाराष्ट्र में आये राजनीतिक संकट पर भाजपा के सह प्रभारी जयभान सिंह पवैया (BJP’s Maharashtra co-in-charge Jaibhan Singh Pawaiya) ने ग्वालियर (Gwalior News) में कहा कि विधान परिषद चुनावों में कांग्रेस और शिवसेना ने जिस तरह मुंह की खाई है और कम वोट होने के बावजूद राज्यसभा में हमने  अपने एक प्रत्याशी को जिताया, जो ये बताता है  कि उद्धव सरकार अपने विधायकों का विश्वास खो चुकी है। उन्होंने कहा कि हम अपनी तरफ से कुछ नहीं कर रहे , हम महाराष्ट्र (Maharashtra Government) को राजनीतिक संकट में डालना नहीं चाहते, उद्धव सरकार का पतन उसके कुनबे के कारण ही होने वाला है।

ये भी पढ़ें – MPPSC-2021 में पूछे गए सवाल पर मचा बवाल, कांग्रेस ने की PSC चेयरमेन के इस्तीफे की मांग

आपको बता  दें कि कल विधान परिषद (MLC) चुनाव में शिवसेना के कुछ विधायकों ने क्रॉस वोट किया, जिसके चलते पार्टी को नुकसान हुआ।  सोमवार देर रात महाराष्ट्र की 10 सीटों पर विधान परिषद चुनाव (MLC Elections) के नतीजे घोषित हुए , इसमें बीजेपी के 5 उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की, जबकि NCP और शिवसेना के 2-2 उम्मीदवार जीते कांग्रेस को केवलएक सीट पर जीत मिली।