10 दिसंबर तक धारा144 लागू, पुलिस ने बढ़ाई सतर्कता, निकाला फ्लैग मार्च

ग्वालियर। अयोध्या राम मंदिर से जुड़े बहुप्रतीक्षित मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले की घड़ी नजदीक आ रही है। इसे लेकर पुलिस और प्रशासन अलर्ट मोड पर है। ग्वालियर में कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी ने 10 दिसंबर तक धारा 144 लगा दी वहीं पुकिस अधीक्षक ने बैठक कर अधीनस्थों को अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं । इसके अलावा पुलिस ने संवेदनशील क्षेत्रों में फ्लैग मार्च भी निकाला।

अयोध्या मामले में अभी सुप्रीम कोर्ट का फैसला आना बाकी है और फैसले के बाद शहर का माहौल नहीं बिगड़े इसे देखते हुए जिला प्रशासन और पुकिस प्रशासन अतिरिक्त सतर्कता बरत रहा है। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी अनुराग चौधरी ने जिले में धारा144 लागू करने के आदेश जारी कर दिए हैं । आदेश के मुताबिक 10 दिसंबर तक जिले में धारा 144 प्रभावी रहेगी। इस आदेश के साथ ही सभी सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों की छुट्टियां निरस्त करने के आदेश भी जारी किये गए हैं। धारा 144 के दौरान किसी भी तरह के  धरना, प्रदर्शन और जुलूस पर प्रतिबन्ध रहेगा लेकिन शादी बारात को इससे अलग रखा गया है। चार या चार से अधिक लोग एक स्थान पर खड़े नहीं हो सकेंगे। सार्वजनिक स्थानों पर लायसेंसी हथियार लेकर कोई नहीं चल सकेगा। पेयजल और बिजली कटौती नहीं की जायेगी। इस दौरान पुलिस होटल में ठहरे लोगों का ,मेहमानों का और किरायेदारों का सत्यापन भी करेगी। 

सात वरिष्ठ अधिकारी करेंगे रात में गश्त

कलेक्टर अनुराग चौधरी ने सात प्रशासनिक अधिकारियों की अतिरिक्त ड्यूटी लगाई है ये अधिकारी मुरार सर्किट हाउस रात 10 बजे से शहर में भ्रमण पर निकलेंगे। इसमें सोमवार को प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी एमपी सिंह, मंगलवार को जॉइंट डायरेक्टर टाउन एंड कंट्री प्लानिंग वीके शर्मा, बुधवार को सहायक श्रम आयुक्त एचसी मिश्रा, गुरुवार को सीएमएचओ डॉ मृदुल सक्सेना, शुक्रवार को उप नियंत्रक नाप तौल एसके उइके, शनिवार को ड्रैग इन्स्पेक्टर अजय ठाकुर और रविवार को चंद्रभान सिंह जादौन ड्यूटी देंगे। 

उधर फैसले को देखते हुए पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने अधीनस्थों के साथ बैठकर तैयारियों की समीक्षा की। बैठक में अति संवेदनशील 40 स्थानों पर CCTV कैमरे लगाने के निर्देश दिए गए। बैठक में तय किया गया कि संवेदनशील क्षेत्रों में मोहल्ला स्तर पर शांति समितियों की बैठक बुलाई जाये जिससे माहौल सौहार्द पूर्ण बना रहेगा। बैठक में पुलिस लाइन की तैयारियों की भी समीक्षा की गई। एसपी ने लाइन में तैनात सभी वाहन, अश्रु गैस इकाई,हथियार और बचाव के साधन एक दम तैयार हालत में  रखने के निर्देश दिए। इसके अलावा सोशल मीडिया पर निगरानी के लिए अलग से सेल बनाई गई जो सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डालने वालों पर निगरानी रखेगी। बैठक के बाद पुलिस ने संवेदनशील क्षेत्रों में बीती रात फ्लैग मार्च भी निकाला। जिसमें भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद था। एसपी के मुताबिक जिले में पर्याप्त बल है आवश्यकता पड़ने पर अतिरिक्त बल की व्यवस्था की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here