ग्वालियर से उम्मीदवार घोषित होने के बाद क्या बोले शेजवलकर

shejvalkar-statement-After-declaring-a-candidate-from-Gwalior-

ग्वालियर। लम्बे मंथन के बाद आख़िरकार भाजपा ने ग्वालियर सीट से अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया। पार्टी ने महापौर विवेक नारायण शेजवलकर को अपना प्रत्याशी बनाया है। उम्मीदवार घोषित होने के बाद विवेक शेजवलकर ने कहा कि ग्वालियर से भाजपा की जीत निश्चित है। ये चुनाव भाजपा और कांग्रेस के बीच नहीं है ये चुनाव मोदी और राहुल के बीच है। 

ग्वालियर महापौर विवेक नारायण शेजवलकर को भाजपा ने लम्बे मंथन के बाद ग्वालियर से उम्मीदवार घोषित कर दिया। उम्मीदवार घोषित होने के बाद शेजवलकर समर्थकों में ख़ुशी की लहर है। बेदाग छवि और मिलनसार व्यक्तित्व के धनी श्री शेजवलकर दो बार ग्वालियर के महापौर रहे हैं 2004-05 में वे 41000 वोटों से जीते थे और प्रदेश में सर्वाधिक मतों से  जीतने वाले महापौर बने थे। वहीँ 2014-15 में 90000 से ज्यादा मतों से जीतकर दूसरी बार महापौर बने। पिछले कुछ महीनों से वे आज की चाय आपके द्वार कार्यक्रम के माध्यम से जनता से सतत संपर्क में थे इसके अलावा वे जनता से लोक मंत्रणा के माध्यम से भी जनता की समस्याओं को दूर करते आये हैं। उम्मीदवार घोषित होने के बाद चुनिन्दा पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने उम्मीदवार बनाये जाने के लिए पार्टी को धन्यवाद दिया साथ ही भरोसा जताया कि ये सीट हमेशा की तरह इस बार भी भाजपा ही जीतेगी। 

जनता से सतत संपर्क को अपनी जीत का आधार मानने वाले विवेक शेजवलकर नरेन्द्र सिंह तोमर को मुरैना भेजे जाने को पार्टी की एक रणनीति मानते हैं । उन्होंने श्री तोमर के खिलाफ कार्यकर्ताओं की नाराजगी को नकारते हुए कहा कि उनके द्वारा किये गए कार्यों का लाभ भाजपा को यहाँ मिलेगा। उन्होंने कहा कि भाजपा में जब प्रत्याशी घोषित हो जाता है तो सभी कार्यकर्ता जी जान से जुट जाते हैं। ग्वालियर से यदि ज्योतिरादित्य सिंधिया आ जाये तो कितनी चुनौती होगी इस सवाल के जवाब में श्री शेजवलकर ने कहा कि  ये चुनाव भाजपा और कांग्रेस के बीच नहीं है बल्कि मोदी और राहुल के बीच है। जिस तरह से मोदी जी ने पिछले पांच सालों में काम किया है और राहुल ने झूठ बोला है उससे जनता समझ चुकी है कि देश को ऊँचाइयों तक कौन ले जा  सकता है ।