शिवराज बोले, “दुबला पतला हूँ,कमजोर नहीं हूँ, टाइगर अभी जिंदा है”

shivraj-says-tiger-abhi-zinda-hae-

ग्वालियर। बुधवार को ग्वालियर पहुंचे प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह ने कार्यकर्ताओं से कहा कि मित्रों ये अलग तरह का चुनाव है, ये कोई व्यक्ति या  पार्टी का चुनाव नहीं है, बल्कि देश की दिशा तय करने वाला चुनाव है, ग्वालियर वह धरती है जहां भारतीय जनसंघ का जन्म हुआ। भारतीय जनसंघ को पैदा करने वाला, एक देश में दो विधान, दो निशान, दो प्रधान नहीं चलेंगे, एक तरफ वह हैं जो देशद्रोह का कानून समाप्त करना चाहते हैं, एक तरफ हम है जो कश्मीर से धारा 370 समाप्त करना चाहते हैं, ये चुनाव केवल नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने का चुनाव नहीं बल्कि यह भारत की दिशा तय करने वाला चुनाव है। इसलिए इस बार भी  नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाना है और देश एवं प्रदेश का भविष्य उज्जवल बनाना है। आपका एक वोट देश और प्रदेश की स्थिति को बदलने के लिए काफी है, इसलिए वोट भारतीय जनता पार्टी को ही दें। 

मंगल वाटिका में आयोजित कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मैं तीन बार मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री रहा, 13 सालों तक सरकार चलाई, मैं दिल्ली नहीं जाउंगा। यहीं मध्यप्रदेश में रहकर अपने प्रदेश की जनता की सेवा करूंगा और अपने कार्यकर्ताओं के साथ सरकार से लड़कर संघर्ष करूंगा। उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस सरकार ने प्रदेश की जनता के साथ छलावा किया, उनसे किए गए वादे पूरे नहीं किए तो इस सरकार की ईंट से ईंट बजा दूंगा। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि ये कांग्रेस के लोग झूठे वादे करके प्रदेश की जनता को गुमराह कर रहे हैं। वे समझ रहे हैं कि अब शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री नहीं है, लेकिन डरने की बात नहीं है। मैं भले ही मुख्यमंत्री नहीं हूं, दुबला-पतला हूं, लेकिन कमजोर नहीं हूं। टाइगर अभी जिंदा है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि हम भिंड, ग्वालियर, मुरैना जीतेंगे । उन्होंने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ कि गुना, चंदेरी की जनता ने महाराजा को गली-गली की खाक छनवा दी। अकेले महाराज ही नहीं, बल्कि पूरा परिवार घूम रहा है। यदि पांच साल काम करते तो यह स्थिति नहीं बनती। छिंदवाडा में भी कमलनाथ अपने बेटे को जिताने के लिए शत्रुघ्न सहित पता नहीं किस किसको प्रचार के लिए बुला रहे थे, इससे साफ जाहिर होता है कि हम मप्र में 29 में से 29 सीटें जीत रहे हैं।