चार दिन से नींद की गोली दे रही थी पत्नी, प्रेमी संग मिलकर घोंट दिया पति का गला

3628
Sleeping-pill-was-giving-for-four-days

ग्वालियर । साड़ी कारोबारी हेमंत जैन की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। हत्या अवैध संबंधों को लेकर की गई । इसे हेमंत की पत्नी प्रीति ने अपने प्रेमी मृदुल गुप्ता के साथ मिलकर अंजाम दिया। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर कर लिया है। 

बीते रविवार को इंदरगंज थाना क्षेत्र स्थित पुराने हाईकोर्ट के सामने एक अपार्टमेंट में रहने वाले साड़ी कारोबारी हेमंत जैन की उसके ही घर में घुसकर किसी ने हत्या कर दी थी। खास बात ये थी कि हत्या के समय पत्नी प्रीति दूसरे कमरे में थी । घटना के बाद पहुंची पुलिस ने पत्नी से जब पूछ ताछ की तो उसने बताया कि मैं अन्दर थी तभी अचानक हेमंत घायल अवस्था में आये और बोले कि मेरा एक्सीडेंट हो गया है। इतना कहकर वो सोफे पर गिर गए। मैंने पड़ोसियों को बुलाया और हेमंत को अस्पताल पहुँचाया जहाँ डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस को प्रीति की बात पर संदेह हुआ और फिर उसने साक्ष्य जुटाने शुरू किये तो चौंकाने वाले सुबूत सामने आये। 

पुलिस ने जब प्रीति की बताई कहानी की कड़ियों को जोड़ा टी वो साफ़ झूठी निकली। क्योंकि अपार्टमेंट से लेकर फ्लेट तक कही एक्सीडेंट के प्रमाण यानि खून की एक भी बूंद नहीं थी। जब आसपास पूछ ताछ की तो एक युवक के आने जाने की बात सामने आई। घटना वाली रात अपार्टमेंट में लगे CCTV में  दो युवकों के हेमत के फ्लेट में घुसने और लगभग डेढ़ घंटे तक रहने और फिर युवकों के जाने के बाद प्रीति के बाहर झाँकने की गतिविधि कैद हो गई। इतनी जानकारी हाथ आते ही पुलिस की शक की सुई प्रीति पर आकार टिक गई पुलिस ने प्रीति को उठा लिया और जब कड़ाई से पूछ ताछ की तो वो टूट गई और उसने प्रेमी मृदुल गुप्ता के साथ पति की हत्या करना स्वीकार कर लिया। इसके बाद पुलिस ने प्रीति और उसके प्रेमी मृदुल गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया। पूछ ताछ में प्रीति ने पुलिस को बताया कि पिछले लगभग दो साल से उसके और मृदुल के बीच सम्बन्ध थे। जिसका पता हेमंत को चल चुका था। इसके बाद दोनों के बीच झगड़े होते रहते है। झगड़े की पुष्टि हेमंत और प्रीति ने नाबालिग बेटे और बेटी ने भी की है। झगड़े के कारण ही हेमंत दानाओली वाला घर झोड़कर हाईकोर्ट के पास अपार्टमेंट में रहने आ गए थे। लेकिन यहाँ भी मृदुल और प्रीति का मेलजोल जारी था। 

हेमंत की टोकाटोकी प्रीति और मृदुल को पसंद नहीं थी इसलिए दोनों ने हेमंत को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। और उसी के तहत प्रीति पिछले चार दिनों से हेमंत को नींद की गोलियां खिला रही थी। बताया ये भी जा रहा है कि तनाव के चलते हेमंत भी कभी कभी नींद की गोली खाते थे। घटना वाले दिन हेमंत ने नींद की गोली खाई और प्रीति ने भी चुपके से गोली खिला दी। तय समय पर मृदुल फ्लेट में दाखिल हुआ। हेमंत नींद की गोली के नशे में थे मृदुल ने हाथ में पहने स्टील के कड़े से हेमंत के माथे पर वार किया और उसे धक्का दिया जिससे हेमंत गिर पड़ा उसका सिर पीछे रखी टेबल से टकराया और वो बेहोश हो गया । उसके बाद दोनों ने उसे उठाकर पलंग पर रखा और मृदुल एवं प्रीति ने तकिये से हेमंत का गला तब तक दबाये रखा जब तक उसकी साँसे नहीं थम गई। 

एक साथी को साथ लेकर पहुंचा था मृदुल

CCTV फुटेज के आधार पर पुलिस ने जब मृदुल से उसके साथी के बारे में पूछ ताछ की तो  उसने आदेश नामक युवक को साथ ले जाने की बात कुबूल की। लेकिन उसने अपनी योजना के बारे में कुछ नहीं बताया था। लेकिन जब अन्दर झगड़े जैसे हालात बनने लगे तो आदेश वहां से निकल गया। हालांकि पुलिस आदेश की भूमिका की जांच भी कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here