स्मार्ट सिटी कंपनी पर परेशान करने का आरोप,अधिमान्य फोटो जर्नलिस्ट ने दी आत्महत्या की चेतावनी

ग्वालियर।अतुल सक्सेना|अंतरराष्ट्रीय स्तर की पहचान रखने वाले शहर के फोटो जर्नलिस्ट केदार जैन ने स्मार्ट सिटी कंपनी प्रबंधन पर उन्हें परेशान करने के आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि कंपनी ने उनसे अनुबंध करके फोटो कंट्रोल कमांड सेंटर के शुभारंभ के मौके पर शहर की विरासत के फोटो उनसे लगवाए थे लेकिन सात महीने बाद भी उसका भुगतान करने में आनाकानी की जा रही है। परेशान हो चुके केदार जैन ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, सांसद विवेक शेजवलकर, आयुक्त जनसंपर्क को पत्र लिखकर इसकी शिकायत की है और चेतावनी दी है कि यदि एक जून तक भुगतान नहीं किया गया तो वे आत्महत्या करने के लिए मजबूर रहेंगे।

फोटो जर्नलिस्ट केदार जैन राज्य स्तरीय स्वतंत्र फोटो जर्नलिस्ट हैं वे देश विदेश के समाचार पत्र पत्रिकाओं में फोटो भेजते हैं साथ ही अपना निजी स्तर पर भी सरकारी और गैर सरकारी संस्थाओं को सेवा देते हैं। उनका कहना है कि पिछले दिनों स्मार्ट सिटी कंपनी के कंट्रोल कमांड सेंटर का शुभारंभ पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया था तब स्मार्ट सिटी कंपनी के तत्कालीन CEO महीप तेजस्वी के कहने पर उन्होंने ग्वालियर की ऐतिहासिक विरासत के फोटो वहाँ लगाए थे। जिसका भुगतान आज सात महीने बाद भी नहीं किया गया है। केदार का कहना है कि स्मार्ट सिटी कंपनी प्रबंधन द्वारा कोरोना संकट के बीच मुझे बार बार चक्कर लगवाए जा रहे हैं और भुगतान के लिए परेशान किया जा आरहा है। अपनी परेशानी से अवगत कराते हुए केदार ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, सांसद विवेक शेजवलकर, आयुक्त जन संपर्क भोपाल, अध्यक्ष प्रेस क्लब ऑफ इंडिया नई दिल्ली और जयति सिंह CEO स्मार्ट सिटी कंपनी ग्वालियर को पत्र लिखा है। पत्र में केदार ने लिखा है कि मैं बहुत परेशान हो गया हूँ फोटो को बनवाने में मेरी जमा पूंजी खत्म हो गई है। कोरोना के कारण आजीविका के साधन भी बंद हैं इसलिए मेरा भुगतान तत्काल कराया जाए वरना 1 जून को मैं आत्महत्या करने पर मजबूर हो जाऊंगा।

पत्र लिखने के बाद शनिवार को केदार जैन सांसद विवेक शेजवलकर से मिले और उन्हें अपना अधिमन्यता कार्ड और फोटो कैमरा सौंप दिया। लेकिन सांसद ने कार्ड और कैमरा लेने से इंकार करते हुए कहा से आप अपने पास रखें मैं कलेक्टर से बात करता हूँ। कलेक्टर स्मार्ट सिटी कंपनी के अध्यक्ष होते हैं । सांसद ने केदार से कहा कि वे आत्महत्या जैसा विचार त्याग दें। उधर केदार जैन ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ को बताया कि मुझे सांसद जी ने आश्वासन दिया है और कलेक्टर से मिलने के लिए बोला है आगे देखते हैं क्या होता है। वहीं स्मार्ट सिटी कंपनी की CEO जयति सिंह ने कहा कि मामला मेरे संज्ञान में अभी आया है । ये त। वित्त से जुड़ा मामला है इसका परीक्षण करवाकर नियमनुसार कार्रवाई की जायेगी।

स्मार्ट सिटी कंपनी पर परेशान करने का आरोप,अधिमान्य फोटो जर्नलिस्ट ने दी आत्महत्या की चेतावनी