राज्य स्तरीय मातृ वंदना योजना सप्ताह का शुभारंभ श्रेष्ठ कार्य करने वालों का सम्मान

ग्वालियर।  केन्द्र सरकार की प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में मध्यप्रदेश सम्पूर्ण देश में अव्वल प्रदेश रहा है। प्रदेश को अव्वल लाने का श्रेय महिला बाल विकास विभाग के मैदानी कार्यकर्ताओं को जाता है। मातृ वंदना के साथ-साथ अन्य योजनाओं में भी मध्यप्रदेश ने देश में अव्वल स्थान पाया है। ये बात प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने सोमवार को बाल भवन में आयोजित राज्य स्तरीय प्रधानमंत्री मातृ वंदना सप्ताह के शुभारंभ करते हुए कही। 

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री इमरती देवी ने कहा कि मातृ वंदना सप्ताह के तहत छूटे हुए हितग्राहियों को चिन्हित कर जोड़ने का कार्य भी किया जायेगा। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी के मैदानी अमले को अन्य किसी कार्य में न लगाया जाए, इस संबंध में भी विभाग की ओर से सभी कलेक्टरों को पत्र लिखकर निर्देशित किया गया है। विभाग का मैदानी अमला अपने विभाग की योजनाओं के प्रभावी क्रियान्व्यन के लिए पूर्ण निष्ठा से कार्य करे। उन्होंने कहा कि प्रदेश से कुपोषण के कलंक को मिटाने के लिए भी पूरा विभाग प्रभावी कार्रवाई कर रहा है। आने वाले समय में हम अपने प्रदेश को कुपोषण मुक्त प्रदेश भी बनाकर रहेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विधायक मुन्नालाल गोयल ने कहा कि गर्भवती माताओं को सहायता उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। प्रदेश में उक्त योजना के तहत किए गए सराहनीय कार्य के लिए विभाग के सभी अधिकारी-कर्मचारी बधाई के पात्र हैं। सप्ताह भर अभियान चलाकर छूटे हितग्राहियों को जोड़ने का जो कार्य किया जा रहा है इससे जरूरतमंद महिलाओं को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी केन्द्रों की गतिविधियां और प्रभावी हों, इसके लिए आवश्यक है कि निजी भवनों में संचालित आंगनबाडी केन्द्रों को शासकीय भवनों में स्थानांतरित कर संचालित किया जाए। इसके साथ ही नई आंगनबाड़ी भवनों का निर्माण भी तत्परता से हो। कार्यक्रम में मौजूद संभागीय आयुक्त एम बी ओझा ने कहा कि मध्यप्रदेश में महिला बाल विकास विभाग की अनेक योजनाओं के क्रियान्वयन से मध्यप्रदेश को अव्वल स्थान प्राप्त हुआ है। केन्द्र सरकार द्वारा भी महिला बाल विकास की योजनाओं के क्रियान्वयन की सराहना करते हुए 2 करोड़ 95 लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि का इनाम मध्यप्रदेश को प्रदान किया गया है। मातृ वंदना योजना का प्रभावी क्रियान्वयन प्रदेश में हुआ है। संभागीय आयुक्त श्री ओझा ने कहा कि इस सप्ताह के तहत महिला एवं बाल विकास विभाग महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य को बेहतर करने की दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करता है। मैदानी अमले को अपनी भूमिका को समझकर दायित्वों का निष्ठापूर्ण निर्वहन करना चाहिए। 

सराहनीय कार्य करने पर इन्हें किया गया सम्मानित 

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में सराहनीय कार्य करने पर महिला बाल विकास के मैदानी अमले को कार्यक्रम में सम्मानित किया गया। मंत्री श्रीमती इमरती देवी, विधायक मुन्नालाल गोयल एवं संभागीय आयुक्त एम बी ओझा ने शील्ड एवं प्रशस्ति पत्र देकर परियोजना अधिकारी महावीर सिंह, ओमप्रकाश सिंह, श्रीमती मंजू कौरव, श्रीमती दीपिका सिंह, श्रीमती प्रीति राणा, पर्यवेक्षक श्रीमती उर्मिला सिंह राजपूत, श्रीमती अंजना दुबे, श्रीमती अनीता सक्सेना, सुश्री प्रिया सेंगर, श्रीमती सरिता अहिरवार, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती पुष्पा वर्मा, श्रीमती सुप्रिया सिंह, श्रीमती आशा श्रीवास्तव, श्रीमती रामसखी निर्मोह व श्रीमती आशा श्रीवास्तव को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के अंत में मंत्री इमरती देवी ने मातृ वंदना योजना के  प्रचार रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here