सांसद सिंधिया के खिलाफ दिग्विजय समर्थक नेता ने दायर किया परिवाद

ग्वालियर। अतुल सक्सेना| मध्यप्रदेश में 24 सीटों पर प्रस्तावित उपचुनाव (Byelection) के लिए भले ही अभी तारीखों का ऐलान नहीं हुआ हो लेकिन सियासी घमासान ने स्पीड पकड़ ली है। नये घटनाक्रम में भाजपा के राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के खिलाफ ग्वालियर के न्यायालय में परिवाद दायर हुआ है। ये परिवाद दिग्विजय समर्थक कांग्रेस नेता की तरफ से दायर किया गया है।

ग्वालियर जिला न्यायालय में दिग्विजय सिंह समर्थक नेता गोपी लाल भारतीय ने एक परिवाद अपने वकील कुबेर बौद्ध के माध्यम से दायर किया जिसमें कहा गया है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जब राज्यसभा का नामांकन भरा था तब उन्होंने अपने ऊपर दर्ज आपराधिक मामले को छुपाया, ऐसे में उनका ये कृत्य अपराध की श्रेणी में आता है। इसलिए उनके ऊपर मामला दर्ज किया जाए। जेएमएफसी पवन पटेल ने अपनी अदालत में दायर परिवाद की सुनवाई करते हुए याचिकाकर्ता को इसे भोपाल की अदालत में पेश करने के लिएकहा है। अदालत का कहना है कि जन प्रतिनिधियों के खिलाफ भोपाल की स्पेशल कोर्ट में सुनवाई होती है। ऐसे में ये मामला उनकी कोर्ट नहीं सुन सकती है।

ये है पूरा मामला

गौरतलब है कि व्यापमं कांड में सितंबर 2017 में भोपाल की विशेष अदालत के न्यायधीश सुरेश सिंह के आदेश पर श्यामला हिल्स पुलिस ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया, कमलनाथ और आईटी विशेषज्ञ प्रशांत पांडे के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इनके खिलाफ कूटरचित दस्तावेज पेश करने, धोखाधड़ी में शामिल होने सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया था। इसी को आधार बनाकर ग्वालियर के दिग्विजय समर्थक कांग्रेसी नेता गोपीलाल भारतीय ने अपने अधिवक्ता कुबेर बौद्ध के माध्यम से कोर्ट में तर्क दिया कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने नामाकांन में जानकारी छुपाई इसलिए इन पर मामला दर्ज किया जाए। यहाँ बता दें कि कुबेर बौद्ध पूर्व गृह मंत्री महेंद्र बौद्ध के पुत्र हैं , महेंद्र बौद्ध भी दिग्विजय समर्थक नेता हैं। बहरहाल अब याचिकाकर्ता इस मामले को भोपाल की अदालत में ले जायेंगे।