पूर्व मंत्री का तंज “महाराज, ये तो BJP का पहला झटका है, आगे और देखिये”

scindia-supporter-congress-leader-resign-from-party-post-in-gwalior-

ग्वालियर।अतुल सक्सेना। कांग्रेस (Congress) को सत्ता से बाहर करने के बाद भाजपा के मुख्यमंत्री बने शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने दो दिन पहले पांच सदस्यीय मिनी मंत्रिमंडल गठित कर लिया। मंत्रिमंडल (Cabinet)गठन के बाद से ही राजनैतिक गलियारों में गर्मी बढ़ गई है। मात्र सिंधिया समर्थक दो मंत्री शामिल करने और ग्वालियर अंचल को छोड़ देने पर कांग्रेस हमलावर है।

कोरोना संक्रमण के चलते छोटा मंत्रिमंडल गठित करने के बाद से ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और भारतीय जनता पार्टी विपक्ष के निशाने पर है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, पूर्व मंत्री जीतू पटवारी सहित कई वरिष्ठ नेता भाजपा को आड़े हाथ ले रहे हैं। इस बीच जिला प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए क्राइसिस मैनेजमेंट के लिए बुलाई गई राजनीतिक दलों की बैठक में शामिल होने कलक्ट्रेट पहुंचे पूर्व पशुपालन मंत्री लाखन सिंह (laakhan Singh) ने ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia)और भाजपा (Bjp)पर निशाना साधा।

पूर्व मंत्री ने कहा कि सुना तो हमने भी था कि सिंधिया जी के साथ गए सभी 6मंत्री कैबिनेट में शामिल होंगे। लेकिन जो हुआ सबके सामने है। उन्होंने कहा कि सिंधिया जी ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह के यहाँ खूब चक्कर लगाए लेकिन कुछ हुआ नहीं । मंत्रिमंडल में ग्वालियर अंचल शून्य है। इससे समझ में आता है कि भाजपा में उनका कितना कद है और कितना वजन है। पूर्व मंत्री ने कहा कि सबको दिख रहा है कि भाजपा की कथनी और करनी में कितना अंतर है मंत्रिमंडल में ना तो ग्वालियर को तरजीह दी गई है और ना सिंधिया जी को। लाखन सिंह ने सिंधिया पर तंज कसते हुए कहा कि मंत्रिमंडल गठन तो भाजपा द्वारा उन्हें दिया गया पहला झटका है, आगे आगे देखिये कितने झटके मिलते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here