बंदियो ने जेल प्रशासन को दी शिकस्त

ग्वालियर। अतुल सक्सेना।

पहली बार खेली गई JPL यानि जेल प्रीमियर लीग क्रिकेट प्रतियोगिता की ट्रॉफी पर बंदियों की टीम ने कब्जा कर लिया। जेल प्रशासन की टीम ने हवालाती वार्ड की टीम को जीत के लिए 137 रनों का लक्ष्य दिया था जिसे उन्होंने 17 ओवर में 3 विकेट खोकर ही हासिल कर लिया।

सेंट्रल जेल ग्वालियर में पहली बार जेल प्रीमियर लीग (JPL )2020 क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन 3 फरवरी से 9 फरवरी तक किया गया। प्रतियोगिता का फाइनल मैच आज सेंट्रल जेल प्रशासन की टीम और हवालाती वार्ड टीम के बीच खेला गया। टॉस बंदियों की टीम ने जीता और खेलने के लिएजेल प्रशासन की टीम को आमंत्रित किया। पहले खेलते हुए जेल प्रशासन की टीम ने निर्धारित 50 ओवर 136 रन बनाये। जवाब में खेलने उतरी बंदियों की टीम ने जीत के लिए जरूरी 137 रन 17 ओवर में तीन विकेट खोकर प्राप्त कर लिया और टूर्नामेंट की ट्रॉफी को 7 विकेट से अपने नाम कर लिया ।

मैन ऑफ द मैच बंदी करण को दिया गया जिसने 52 रन बनाये और दो विकेट भी लिए। JPL में 6 टीमों ने भाग लिया जिसमें से 5 टीमें सेंट्रल जेल में बंद बंदियों की थी, और एक टीम सेंट्रल जेल प्रशासन की थी।

सेंट्रल जेल ग्वालियर में खेले गए रोमांचकारी क्रिकेट मैच का आनंद जेल में बंद पुरुष बंदियों के अलावा महिला बंदियों और उनके ने भी लिया। जेल अधीक्षक मनोज कुमार साहू ने आयोजन का मकसद बताते हुए कहा कि इस तरह का आयोजन करने के पीछे हमारा उद्देश्य बंदियों के बीच मनोरंजन करना और उनके मन में चल रहे बुरे विचारों को खत्म करना है, जिससे जब वह जेल से रिहा हो तब वहां समाज की मुख्यधारा से जुड़े और अपने परिवार के साथ सुखद जीवन जी सकें। उनके बीच आपसी भाई चारा और खेल भावना विकसित हो। जो उनके जीवन में भी काम आ सके।