रेत माफियाओं का आंतक, तहसीलदार की कनपटी पर कट्टा अड़ाकर ले भागे ट्रैक्टर-ट्रॉली

the-sand-mafia-attack-on-the-tahsildar-in-dabra

ग्वालियर।

मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले के डबरा में तहसीलदार पर जानलेवा हमले का मामला सामने आया है।यहां रजियावर मोरम खदान पर अवैध रेत से भरे ट्रैक्टर-ट्रालियों को जब्त कर थाने ले जा रहे तहसीलदार की कनपटी पर कट्टा अड़ाकर बदमाशों ने हमला कर दिया और टैक्टर-ट्राली लेकर फरार हो गए। इसके बाद जैसे तैसे अपनी जान बचाकर भागे तहसीलदार ने थाने में आवेदन देकर कार्यवाही की मांग की। वही प्रशासनिक अमला माफियाओ की जानकारी जुटाने में जुट गया है।फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

दरअसल, अवैध मोरम खदान देहात थाना क्षेत्र के रजियावर गांव में संचालित  है।रविवार देर शाम रजियावर मोरम खदान पर अवैध तरीके से रेत की उत्खनन की सूचना मिलने पर एसडीएम जयति सिंह व तहसीलदार सीताराम वर्मा कार्रवाई के लिए पहुंचे  और अवैध रेत से भरे टैक्टर -ट्राली और जेसीबी जप्त भी किए। इसी दौरान चीनौर रोड के पास एक ट्रैक्टर-ट्राली चालक भागने लगा। जिस पर तहसीलदार वर्मा ने होमगार्ड सैनिकों को अपनी जीप से भेजकर पकड़ने के लिए कहा ।वही दूसरी तरफ जब वह पकड़ी गई ट्रैक्टर-ट्रॉलियों के पास तहसीलदार खड़े थे तभी तीन बाइक पर छह लोग व जीप में सवार आधा दर्जन से अधिक लोगों ने उन्हें घेर लिया और उनकी कनपटी पर कट्टा अड़ाकर चार ट्रैक्टर-ट्रालियों को लूटकर ले गए। 

इस दौरान तहसीलदार किसी तरह अपनी जान बचाकर भागे। वैसे प्रशासन ने  चार ट्रेक्टर ट्रॉली व एक जेसीबी मशीन को जप्त किया था, लेकिन तीन ट्रेक्टर-ट्राली को ले जाने में माफिया कामयाब हो गए और ट्रैक्टर-ट्राली व एक जेसीबी मशीन नहीं ले जा सके। बाद में पुलिस इन्हें जब्त कर थाने लाए। बताया जा रहा है कि एसडीएम जयति सिंह ने कार्यवाही के बाद सभी वाहन तहसीलदार की सुप्रदगी में किये थे। घटना के बाद अपनी जान बचाकर थाने पहुंचे तहसीलदार ने आवेदन देकर कार्यवाही की मांग की। फिलहाल प्रशासन माफियाओ की जानकारी जुटाने में जुट गया है।