कोरोना के दहशत में पहाड़ी पर लावारिस छोड़े हजारों चूज़े

अतुल सक्सेना/ग्वालियर। देश में फैला कोरोना का डर अब बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है। लगातार जागरूकता के बावजूद लोग इसके भय से वो सबकुछ कर रहे हैं जिसका इस बीमारी से कोई वास्ता नहीं है। ताजा मामला ग्वालियर ग्रामीण क्षेत्र की बरई पहाड़ी का है जहाँ कुछ लोगों ने कोरोना के डर से हजारों की संख्या में यहाँ मुर्गी के चूजे छोड़ दिये।

कोरोना के डर से लोग मांसाहार छोड़ने लगे हैं, हालांकि विशेषज्ञ ये नहीं मानते कि मांसाहार का कोरोना के फैलने का कोई खतरा है। फिर भी लोग भय और भ्रांति के चलते ऐसा कर रहे है। इसी भय और भ्रांति ने शनिवार को हजारों चूजों की जान ले ली। जानकारी के अनुसार बरई गाँव में पहाड़ी पर कोई अज्ञात लोग ऑटो में भरकर हजारों की संख्या में मुर्गी के चूजे लावारिस छोड़ गए हैं। इनकी संख्या करीब पांच हजार हो सकती है। सूचना लगते ही ग्रामीण पहाड़ी की तरफ भागे और जब तक वे पहाड़ी पर पहुंचे तब तक सेंकड़ों चूजे मर चुके थे। दहशत में आये ग्रामीणों ने प्रशासनिक अधिकारियों को सूचना ।दी। सूचना के बाद अफसरों ने पशुपालन विभाग की टीम को मौके पर पहुंचाया। टीम जांच में जुट गई और ग्रामीणों को समझाईश दी कि डरने की बात नहीं है कोरोना पशु पक्षी के माध्यम से लोगों में संक्रमण नहीं फैलाता। उधर बताया जा रहा है कि कोरोना के डर से लोगों ने चिकन खाना का कर दिया है तो हो सकता है कि किसी बड़े व्यापारी ने इन्हें फिकवा दिया हो उधर ये भी समझा जा रहा है कि हो सकता है कि आसपास के किसी पोल्ट्री फार्म में चूजों को बीमारी लग गई हो और ये बीमारी ज्यादा नहीं फैले इसलिए चूजों को भरकर यहाँ फिंकवा दिया हो। बहरहाल प्रशासनिक टीम इसकी जांच में जुट गई है।