दैहिक शोषण से परेशान युवती ने एसिड पीकर आत्महत्या की, सुसाइड नोट में लिखा युवक का नाम

ग्वालियर । प्रेमी की बेवफाई, धोखे और दैहिक शोषण से परेशान एक नवयुवती ने एसिड पीकर आत्महत्या कर ली । मरने से पहले नवयुवती ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है ,जिसमें उसने अपनी मौत का जिम्मेदार अजय प्रजापति नाम के युवक और उसकी पत्नी को ठहराया है। इस मामले में पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठ रहे हैं।

जानकारी के अनुसार शहर के इंदरगंज थाना क्षेत्र के  राम कुई अखाड़े के पास रहने वाली वर्षा नाम की 18 साल की नवयुवती ने राम मंदिर के पास एक होजरी पर काम करती थी। पास में ही दूसरी दुकान पर  अजय प्रजापति नामक युवक काम करता था। दोनों में दोस्ती हो गई । अजय ने वर्षा को प्रेम जाल में फंसाया अजय शादीशुदा था लेकिन उसने वर्षा को ये बात नहीं बताई। एक दिन अजय ने वर्षा का चुपके से अश्लील वीडियो बना लिया और फिर उसे वायरल करने की धमकी देकर वर्षा का दैहिक शोषण करता रहा। जब बात सहन करने से ऊपर हो गई और वर्षा ने इससे इंकार कर दिय तो अजय उसे धमकी देने लगा । जब मामले की जानकारी अजय  की पत्नी को लगी तो वह पति के  बुरे कर्मों को छुपाने के लिए उल्टा वर्षा को धमकाने लगी।  वर्षा की मां सुनीता वर्मा के मुताबिक बीती 5 नवंबर को  अजय की पत्नी चार पांच युवकों के साथ घर पहुंची और वहां पर उसने वर्षा के साथ गाली गलौज के साथ बात की, उसके वीडियो वायरल करने और परिवार को ख़त्म करने की धमकी दी जिससे वर्षा सहम गई और उसने दुखी होकर घर में रखा एसिड पी लिया । उसकी हालत बिगड़ने पर परिजनों से जयारोग्य अस्पताल में भर्ती कराया और पुलिस को सूचना दी । यहाँ उसका इलाज चल रहा था।  कुछ दिनों पहले उसकी हालत में सुधार होने पर डॉक्टरों ने अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया था लेकिन बाद में फिर उसकी तबीयत बिगड़ गई और इलाज के लिए जयारोग्य में दोबारा भर्ती कराया गया जहां उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई । परिजनों का आरोप है कि उसकी मौत के लिए सिर्फ अजय प्रजापति और उसकी पत्नी जिम्मेदार हैं । मरने से पहले वर्षा ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है जिसमें उसने अजय और उसकी पत्नी को जिम्मेदार बताया है। घटना की गवाही वर्षा के पड़ोसी भी दे रहे हैं लेकिन पुलिस ने आरोपी अजय और उसकी पत्नी के  खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। पुलिस का कहना है कि जब वर्षा ने एसिड पिया था और अस्पताल में भर्ती हुई थी तब तहसीलदार के सामने उसके बयान दर्ज किये थे लेकिन तब उसने किसी का नाम नहीं लिया था। बस इतना कहा था कि वो एक लड़के से प्यार करती है।  पुलिस का ये भी कहना है कि हमें अभी कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। यदि साक्ष्य मिलते हैं तो जो भी आरोपी होगा कार्रवाई की जाएगी। अब सवाल ये उठता है कि 5 नवम्बर को जब वर्षा ने तेजाब पिया तो पुलिस ने उससे इसका कारण क्यों नहीं पूछा और यदि वर्षा ने एक लड़के से प्यार करने की बात बताई थी तो फिर उस लड़के को पुकिस ने राउंड अप क्यों नहीं किया। बहरहाल वर्षा की मां सुनीता का बुरा हाल है उसका कहना है कि जिस अजय प्रजापति और उसकी पत्नी के कारण उसकी बेटी की जान गई है उसे कड़ी सजा मिलनी चाहिए।