वकील के अभद्र व्यवहार से परेशान उप पंजीयक, कलेक्टर एसपी से की शिकायत

Atul Saxena
Published on -

Gwalior News : ग्वालियर के उप पंजीयक कार्यालय में पदस्थ सभी उप पंजीयक एक वकील के खिलाफ लामबंद हो गए हैं  और उन्होंने उसकी शिकायत कलेक्टर एवं एसपी से की है, सभी उप पंजीयकों ने सामूहिक हस्ताक्षर कर दी शिकायत में वकील ओ पी विश्वैया पर उप पंजीयक मानवेन्द्र सिंह भदौरिया के साथ अभद्र व्यवहार करने की बात कही है।

ग्वालियर के रजिस्ट्रार ऑफिस यानि उप पंजीयक कार्यालय वृत्त 1 एवं वृत्त 2 में पांच उप पंजीयक बैठते हैं , यहाँ रोज लाखों रुपये की संपत्तियों की रजिस्ट्री की जाती है जिसके लिए सर्विस प्रोवाइडर रजिस्ट्री कराने वालों की मदद करते हैं इनमें वकील भी शामिल होते हैं।

वृत्त क्रमांक 2 में पदस्थ उप पंजीयक मानवेन्द्र सिंह भदौरिया ने आरोप लगाया है कि वकील ओ पी विश्वैया द्वारा उनके साथ 20 मार्च को कार्यालय में अभद्र व्यवहार किया गया, गाली गलौज की गई , उप पंजीयक ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि अभिभाषक विश्वैया प्रतिबन्ध के बाद भी कार्यालय में आकर अभिलेखों यानि सरकारी दस्तावेजों में गलत जानकारी लिखवाकर रजिस्ट्री कराने का प्रयास करता है और सरकार को राजस्व हानि पहुँचाने का प्रयास करता है।

उन्होंने आरोप लगाये कि अभिभाषक ओ पी विश्वैया आये दिन इस तरह का अभद्र व्यवहार सभी के साथ करता है और ऑफिस का माहौल ख़राब करता है यदि कोई विरोध करता है तो एससी,एसटी एक्ट लगवाने की धमकी देता है, उप पंजीयक भदौरिया ने शिकायती आवेदन में कहा कि अभिभाषक ओ पी विश्वैया दूसरे सर्विस प्रोवाइडरों की आईडी पासवर्ड का इस्तेमाल कर कानून का उल्लंघन भी करता है और मना करने पर वीडियो बनाकर वायरल करता है।

उन्होंने कहा कि ओ पी विश्वैया पिछले साल 24 मार्च 2022  को उप पंजीयक के एन वर्मा के साथ भी अभद्र व्यवहार कर चुका है, किसी भी उप पंजीयक के कार्यालय में जाकर वहां अशांति फैलाना इसकी आदत बन गई है, उन्होंने कहा कि विश्वैया अपने भाई प्रमोद विश्वैया एवं श्रीमती राधा वर्मा के नाम से सेवा प्रदाता के लाइसेंस का उपयोग करता है  जो सूचना प्रोद्योगिकी कानून का उल्लंघन है अतः आपसे अनुरोध है कि अभिभाषक ओपी विश्वैया के खिलाफ कड़ी क़ानूनी कार्रवाई की जाये।

इस शिकायती आवेदन में उप पंजीयक मानवेन्द्र सिंह भदौरिया के अलावा उप पंजीयक दुष्यंत दीक्षित, उप पंजीयक अशोक शर्मा, उप पंजीयक के एन वर्मा, और उप पंजीयक कपिल व्यास के हस्ताक्षर हैं। इस शिकायत की प्रतिलिपि अधिकारियों ने महानिरीक्षक पंजीयन भोपाल सहित कई अन्य विभागीय वरिष्ठ अधिकारियों को भी भेजी है।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News