ब्लाइंड मर्डर के दो आरोपी गिरफ्तार, भांजा निकला मास्टर माइंड, टीम को एसपी देंगे पुरस्कार

ग्वालियर। जिले के देहात थाना बिजौली में कल मंगलवार को हुई अंधेकत्ल की गुत्थी को पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ही  सुलझा लिया। हत्या का मास्टर माइंड मृतक का भांजा निकला। भांजे ने गांव में परिवार से चल रही रंजिश के चलते अपने साथी के साथ मिलकर मामा की गला दबाकर हत्या की थी। 

एडिशनल एसपी ग्वालियर मध्य और एसडीओपी बेहट मुनीष राजौरिया ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि मंगलवार 7 जनवरी को गांव में एक वृद्ध की हत्या की  से सनसनी फ़ैल गई थी। घटना के बाद एस पी नवनीत भसीन ने कार्रवाई के निर्देश दिए थे। निर्देश के बाद थाना प्रभारी बिजौली  सुरजीत परमार ने घटनास्थल पर उपस्थित लोगों से पूछताछ करने पर मृतक की बहन सोमवती ने मृतक की पहचान जगदीश  जाटव उम्र 50 साल निवासी ग्राम धुआ  थाना घाटीगांव के रूप में की । पुलिस ने आसपास के लोगों से घटना के संबंध में बारीकी से पूछताछ की तो उन्होंने कि बताया कि मृतक का भांजा जयसिंह घटना के दिन से ही गायब है । इसके बाद पुलिस ने जयसिंह को संदेह के आधार पर गिरफ्तार कर पूछताछ की।

साफी से गला घोंटा, ह्त्या के बाद चबूतरे पर डाला

 जयसिंह ने बताया कि उसने अपने साथी केदार जाटव के साथ मिलकर अपने मामा जगदीश जाटव की हत्या साफी (लुंगी) से गला घोंटकर की है।  जयसिंह की स्वीकारोक्ति के बाद पुलिस ने उसके  घर की तलाशी ली तो उसके घर पर खून के धब्बे भी मिले। पुलिस ने जयसिंह की निशानदेही पर हत्या के दूसरे आरोपी केदार जाटव को भी उसके घर से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में जयसिंह ने बताया कि गांव के लाल सिंह जाटव से उनकी पुरानी रंजिश चल रही है उससे बदला लेने के लिये उसने मामा की हत्या कर उसे लाल सिंह  के घर के चबूतरे पर डाल दिया था। एडिशनल एसपी ने  कहा कि 24 घंटे में हत्या की गुत्थी  सुलझा कर आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम को एस पी पुरस्कृत करने की घोषणा की है।