राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का बड़ा बयान, खाद की कमी पर किया ये दावा

देश में यूरिया अथवा डीएपी किसी खाद की कमी नहीं है

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (union minister narendra singh tomar) ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने ग्वालियर (Gwalior) में कहा कि राहुल अपनी पार्टी को तो जोड़ लें फिर देश जोड़ने की बात करें। उन्होंने कहा कि वैसे राहुल गांधी पर टिप्पणी करना समय बर्बाद करने जैसा है।

यह भी पढ़े…IMD Alert : मौसम में बदलाव, चक्रवाती सिस्टम-लो प्रेशर सक्रिय, 15 राज्यों में 18 सितंबर तक बारिश का रेड-ऑरेंज अलर्ट, इन राज्यों में बढ़ेगा तापमान

केंद्रीय वन मंत्री भूपेंद्र यादव और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ कूनो पालपुर अभ्यारण्य जाने से पहले मीडिया से बात करते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि देश में यूरिया अथवा डीएपी किसी खाद की कमी नहीं है और जो लोग खाद की कालाबाजारी करते हैं उनके खिलाफ राज्य सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए।

यह भी पढ़े…ग्वालियर पहुंचे केंद्रीय वन मंत्री ने “चीतों” और “चंबल अंचल” को लेकर कही बड़ी बात

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा पोषण आहार घोटाला उजागर होने पर सीएम शिवराज से इस्तीफा मांगे जाने के सवाल पर तोमर ने कहा कि कोई भी विषय सामने आता है तो उसकी जांच होती है और जांच में दूध का दूध पानी का पानी हो जाता है।

यह भी पढ़े…Brahmastra की स्पेशल स्क्रीनिंग पर रोते दिखे अयान मुखर्जी, जानिए वजह

विपक्ष द्वारा एकजुट होकर पीएम मोदी को हराने के सवाल पर केंद्रीय मंत्री तोमर ने कहा जब तक चुनाव नहीं हो जाते तब तक मुंगेरी लाल के हसीन सपने देखने का अधिकार सबको है। देश की जनता बहुत समझदार है उसका पूरा समर्थन और आशीर्वाद पीएम मोदी के साथ है। जो लोग तात्कालिक रूप से गठबंधन कर जनता को गुमराह करने की कोशिश करते हैं उनकी कलई अब पूरी तरह से खुल गई है। जनता मजबूर सरकार नहीं मजबूत सरकार चाहती है और ये केवल नरेंद्र मोदी ही दे सकते हैं।

यह भी पढ़े…WhatsApp पर आएगा नया फीचर, मैसेज ढूँढना होगा अब और भी आसान, जानें यहाँ

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा से जुड़े सवाल पर तोमर ने कहा कि राहुल गांधी पर टिप्पणी करना समय बर्बाद करने जैसा है। वे अपनी पार्टी को जोड़ नहीं पा रहे देश को जोड़ने का मुखौटा लगाकर परिवार बचाने की कोशिश कर रहे हैं।