Gwalior News- सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में हंगामा, सुपरवाइजर और गार्ड से गाली गलौज

जब सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के अधीक्षक डॉ गिरिजा शंकर गुप्ता वहाँ पहुंचे और कार्यक्रम को देखा तो मौके पर मौजूद सिक्योरिटी सुपरवाइजर और गार्ड पर भड़क गए ।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना । ग्वालियर (Gwalior) के जयारोग्य अस्पताल (Jairogya Hospital) समूह में स्थित सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल (Super Specialty Hospital) के अधीक्षक और हॉस्पिटल के सिक्योरिटी सुपरवाइजर एवं गार्ड के बीच आज शुक्रवार सुबह तीखी नोंक झोंक हो गई। सुपरवाइजर और गार्ड का आरोप है कि अधीक्षक ने उनके साथ अभद्रता की एवं गाली गलौज (Abusive throat) की, जबकि अधीक्षक का कहना था वैक्सीन के ट्रायल रन की जानकारी मुझे सिक्योरिटी सुपरवाइजर ने नहीं दी और उल्टा मुझपर भड़क रहे हैं।

यह भी पढ़े… Gwalior- नगर निगम का TC बोला कौन नहीं लेता आज के जमाने में? वीडियो वायरल, सस्पेंड

दरअसल, ग्वालियर में आज तीन स्थानों पर कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) का ट्रायल रन होना था। ये पूर्व निर्धारित था जिसकी सूचना मीडिया तक को दी गई थीं तय समय पर जयारोग्य अस्पताल समूह में निर्धारित अस्पताल में इसका ट्रायल रन आज सुबह शुरू हुआ। ट्रायल रन को देखने के लिए संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना और मेडिकल कालेज के डीन डॉ एस एन आयंगर अस्पताल पहुंचे और चले गए। उधर जब सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के अधीक्षक डॉ गिरिजा शंकर गुप्ता वहाँ पहुंचे और कार्यक्रम को देखा तो मौके पर मौजूद सिक्योरिटी सुपरवाइजर और गार्ड पर भड़क गए ।

डॉ गुप्ता का कहना था कि यहाँ कार्यक्रम चल रहा था और सुपरवाइजर एवं गार्ड में से किसी ने मुझे इसकी सूचना नहीं दी। जबकि सुपरवाइजर का कहना था कि ये हमारी ड्यूटी में नहीं आता इसी बात पर तीनों के बीच नोक झोंक होने लगी।थोड़ी देर में बहस बढ़ गई। गार्ड और सुपरवाइजर ने आरोप लगाए कि अधीक्षक ने अभद्रता की, साले कहकर संबोधित किया, गाली भी दी। उन्होंने सिक्योरिटी कंपनी के इंचार्य को बुलवा लिया। उसके बाद भी अधीक्षक डॉ गिरिजा शंकर गुप्ता का गुस्सा शांत नहीं हुआ। वे यही कहते रहे कि इन लोगों की ड्यूटी थी और इनमें से किसी ने मुझे सूचना नहीं दी।

यह भी पढ़े… इस बात से CM शिवराज सिंह चौहान हुए नाराज, IG को दिए यह सख्त निर्देश

मौके पर पहुंचे कंपनी के इंचार्ज परवेज खान ने कहा कि अधीक्षक को सूचना देना उनके विभाग का काम है ना कि सिक्योरिटी कंपनी के स्टाफ का। सुपरवाइजर और गार्ड अपनी ड्यूटी पर तैनात थे। अधीक्षक खुद देरी से आये उल्टा कंपनी स्टाफ पर भड़क रहे हैं।मीडिया ने जब सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के अधीक्षक डॉ गिरिजा शंकर से उनके व्यवहार के बारे में बात की तो अपनी बात पर ही अड़े रहे कि सिक्योरिटी सुपरवाइजर और गार्ड को मुझे जानकारी देनी चाहिए थीं। मैं थोड़ा जल्दी आ जाता। मैं रोज की तराह अपने निर्धारित समय पर आया हूँ।

मीडिया(Media) ने जब अधीक्षक से ये पूछा कि विभाग की तरफ से सभी को सूचना दी गई थी, मीडिया को इसकी सूचना थी, टीवी अखबार सब जगह इसकी जानकारी दी गई तो आपको कैसे नहीं पता, तो अधीक्षक डॉ गुप्ता ने बड़ी मासूमियत से जवाब दिया कि मैंने आज अखबार नहीं पढ़ा और मुझे विभाग की तरफ से भी कोई जानकारी नहीं थी।उधर घटना से आहत सिक्योरिटी सुपरवाइजर ने कहा कि मैं फौज से रिटायर हूँ। यहाँ सुपरवाइजर हूँ ड्यूटी करने आता हूँ किसी की गालियाँ सुनने या अभद्र भाषा सुनने नहीं आता। उन्होंने अस्पताल छोड़ने की बात करते हुए कहा कि मैं ऐसी जगह काम नहीं कर सकता जहाँ इज्जत नहीं हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here