होम क्वारेंटाइन का उल्लंघन कर रहे रिटायर एयर फोर्स ऑफिसर का हंगामा, पुलिस के साथ की अभद्रता

ग्वालियर/अतुल सक्सेना

ग्वालियर में होम क्वारेंटाइन किये गए रिटायर एयर फोर्स ऑफिसर ने हंगामा कर दिया। क्वारेंटाइन का उल्लंघन करने पर उन्हें सोसाइटी के गार्ड ने टोका तो वे भड़क गए और जब पुलिस उनके घर पहुंची तो उन्होंने पुलिस के साथ भी अभद्रता की। सोसाइटी प्रेसिडेंट के साथ भी उन्होंने बहुत बहस की। उनका व्यवहार देखकर सोसाइटी ने कलेक्टर से उन्हें कहीं दूसरी जगह शिफ्ट करने की मांग की है।

कोरोना के चलते सावधानी बरत रहे और लोगों की सुरक्षा में जुटे पुलिस प्रशासन के सामने अजीब स्थिति बन रही हैं, कभी पुलिस के साथ सड़क पर लोग बहस करते हैं तो कभी क्वारेंटाइन किये गए लोग उसके साथ बहस करते हैं। ऐसा ही एक मामला इंदरगंज थाना क्षेत्र के नौगजा रोड स्थित शुभम अपार्टमेंट में हुआ गई जब होम क्वारेंटाइन का उल्लंघन करने वाले रिटायर एयर वाइस मार्शल पुलिस पर भड़क गए। दरअसल पुलिस को शुभम अपार्टमेंट से सूचना मिली थी कि यहाँ 15 अप्रैल से 29 अप्रैल तक होम क्वारेंटाइन किये गए एक व्यक्ति जबरन सोसाइटी के बाहर जाना चाहते हैं। जब इन्हें गार्ड द्वारा रोका गया तो वे भड़क गए। सोसाइटी की अध्यक्ष रमा पाल ने भी उन्हे समझाने की कोशिश की तो भी वे नहीं मानें।

इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई और जब मौके पर अपने स्टाफ के साथ पहुंचे सब इंस्पेक्टर रशीद खां ने जब उन्हें समझाने की कोशिश की तो वे पुलिस से आई कार्ड मांगने लगे और उनपर भड़कने लगे। वे जोर जोर से चिल्लाने लगे कि सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन हो रहा है, मुझे परेशान किया जा रहा है। जब उन्हें सोसायटी के कोषाध्यक्ष ने समझाते हुए कहा कि हम आपको परेशान नहीं कर रहे, उल्टा आपको घर पर ही दूध सहित अन्य जरूरी सामान उपलब्ध करा रहे हैं तो रिटायर्ड एयर फोर्स ऑफिसर कोषाध्यक्ष से तू तड़ाक से बात करने लगे। । इस बीच उनके साथ ही होम क्वारेंटाइन की गई उनकी पत्नी ने भी कई बार उन्हें समझाने की कोशिश की लेकिन उन्होंने पत्नी को भी सबके सामने झिड़क दिया । काफी देर हंगामे के बाद वे माने और उन्हें अंदर ही रहने की सलाह दी गई। उधर हंगामे के बाद शुभम हाउसिंग सोसाइटी के पदाधिकारियों ने कलेक्टर को पत्र लिखकर निवेदन किया है कि उनकी वजह से सोसायटी में डर का माहौल है इन्हें या तो यहाँ से कहीं और शिफ्ट किया जाए अथवा इनके दरवाजे पर पुलिस बैठायी जाए जिससे यहाँ आगे कोई हंगामा ना हो।