वीडियो बनाने वाला संदिग्ध व्यक्ति निकला जूते का व्यापारी, थाने पहुंचकर बताई सच्चाई

video-framing-person-found-shoe-businessmen

ग्वालियर। दो दिन पहले टेम्पो में बैठकर शहर की वीडियो बनाने वाले संदिग्ध व्यक्ति की पहचान जूते के व्यापारी के रूप में हुई है। वो भिंड जिले का रहने वाला है। और ग्वालियर में खरीदारी करने आया था। और दोस्तों को सेल्फी भेज रहा था।

भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे तनाव के माहौल में संदिग्ध व्यक्ति की ग्वालियर में मौजूदगी ने पुलिस के कान खड़े कर दिए थे। टेम्पो चालक सत्यवीर सिंह ने जैसे ही हिन्दू जागरण मंच के लोगों के साथ जाकर एसपी को संदिग्ध व्यक्ति की जानकारी दी। पुलिस ने तत्काल एक्शन लिया। पुलिस ने पड़ाव पेट्रोल पम्प रेलवे स्टेशन के पास,फूलबाग सहित कई जगह चौराहों पर लगे CCTV कैमरों के फुटेज निकलवाये और संदिग्ध व्यक्ति की फोटो और वीडियो जारी की। थोड़ी ही देर में फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। जैसे ही ये वीडियो और फोटो संदिग्ध व्यक्ति के पास पहुंची तो उसे माजरा समझ आ गया। तनाव भरे माहौल को समझते हुए वो तत्काल गोहद थाने पहुँच गया और अपने बारे में जानकारी दी। गोहद पुलिस ने ग्वालियर पुलिस को युवक के बारे में बताया तो ग्वालियर पुलिस उसे लेकर ग्वालियर आई। पूछ ताछ में युवक ने अपना नाम माजिद खां निवासी गोहद जिला भिंड बताया। उसने बताया कि गोहद में उसकी बाबा फुटवियर के नाम से दुकान है और वो जूते का व्यापारी है । ग्वालियर के दही मंडी में वो जूते का ऑर्डर देने आया था। पुलिस ने दही मंडी के व्यापारी से इसकी तस्दीक की तो उसने माजिद का आना बताया। फिर पुलिस ने टेम्पो चालक सत्यवीर को बुलाया तो उसने भी युवक को पहचान लिया। मामला समझ आने और पूरी सत्यता बाहर आने के बाद पुलिस ने राहत की साँस ली है। माजिद ने बताया कि वो अपने दोस्तों को सेल्फी और लाइव रिकॉर्डिंग भेज रहा था इसलिए ड्राइवर को संदेह हुआ होगा।