अनोखा प्रदर्शन: एक पति के लिए तो एक पत्नी के लिए धरने पर, एसपी से लगाई गुहार

women-and-men-protest-for-husband-and-wife-

ग्वालियर । पुलिस अधीक्षक की जन सुनवाई में आमतौर पर मारपीट, जमीन जायदाद ,अपहरण आदि से जुड़े मामले पहुंचते है लेकिन आज एक अनोखा मामला सामने आया जिसमें एक पति ने अपनी पत्नी को एक व्यक्ति के चंगुल से छुड़ाकर उसे दिलाने की गुहार लगाई तो एक पत्नी ने एक महिला से अपने पति को छुड़ाने की भावुक अपील एसपी से की।  खास बात है यह दोनों ही एक दूसरे से पीड़ित हैं।

दरअसल ग्वालियर किला गेट पर रहने वाला संजय सेन पत्नी पिंकी की बेबफाई से लम्बे समय से परेशान है पिछले दिनों इस पर पत्नी को पाने का ऐसा जुनून छाया कि पुलिस पर दबाब बनाने के लिये हाई टेन्शन की लाइन वाले बिजली के खंबे पर चढ़ गया था जिसके बाद बमुश्किल पुलिस ने पत्नी दिलाने के भरोसे के साथ उसे नीचे उतारा लेकिन पत्नी नहीं मिली तो आज यह पुलिस की जनसुनवाई के दौरान धरने पर बैठ गया। जब संजय एसपी ऑफिस में धरने पर  बैठा था तभी वहां उमा परिहार  नामक महिला भी पहुँच गई वो भी संजय के बगल में लंबा घूंघट कर धरने पर बैठ गई।

उमा परिहार का कहना था कि उसके पति अनिल परिहार को एक महिला लेकर भाग गई इसलिए वो एसपी के दरबार मे गुहार लगाने आई है। इस धरने की खास बात ये है जो पीड़ित महिला पुरुष धरने पर बैठे हैं उनमें आपस में कनेक्शन हैं। उमा का आरोप है कि उसके पति अनिल को  संजय की पत्नी पिंकी भगाकर ले गई है जबकि संजय का आरोप है कि उसकी पत्नी पिंकी को उमा का पति अनिल भागकर ले गया। हालांकि इस मामले में दोनों ने पुलिस ने शिकायत भी दर्ज करवा रखी है लेकिन पुलिस ने अबतक इनकी कोई मदद नहीं की है। बहरहाल यदि धरने पर बैठे उमा और संजय के आरोप सही है तो ये दोनों अपनी शादी बचाने की जी जान से कोशिश कर रहे है जबकि अनिल और पिंकी कहीं छिपे बैठे है। और घर बसाने की कोशिश कर रहे है। अब देखना ये होगा कि कम्युनिटी पुलिसिंग में भरोसा करने वाले पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन कैसे इस मामले को सुलझाते हैं।

ये 25 मई का फोटो है ्जब संजय खंबे पर चढ़ा था