Women Safety: स्मार्ट सिटी की बसों में अब तैनात रहेंगी महिला कंडक्टर, सिंधिया ने की सेवा की शुरुआत

सिंधिया ने कहा कि जब वे अपूर्व शर्मा नमक व्यक्ति से मिले थे तो उन्होंने महिलाओं के साथ होने वाली परेशानी बताई थी और ये सुझाव दिया था , इसका श्रेय उन्हीं को जाता है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने और महिलाओं के लिए सुरक्षा (Women Safety) का वातावरण बनाने के लिए ग्वालियर स्मार्ट सिटी कंपनी (Gwalior Smart City Company) ने एक नई पहल की है।  ग्वालियर स्मार्ट सिटी की बसों में अब महिला कंडक्टर (female conductor) चलेंगी, जिससे किसी महिला सवारी के साथ छेड़छाड़ जैसी कोई अप्रिय घटना नहीं हो पाए। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने मंगलवार को महिला कंडक्टर्स का सम्मान कर इस सेवा का शुभारम्भ किया।

ग्वालियर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन ने सूत्र सेवा में 12 महिलाओं को शहर के अंदर दौड़ने वाली सिटी (इंट्रा) बस और इंटरसिटी बसों में बताैर कंडक्टर जॉब पर रखा है। ये पहला मौका है जब सिटी बसाें में महिला कंडक्टर्स की तैनाती की गई है। आज मंगलवार को केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कलेक्ट्रेट पर इन महिला कंडक्टर का सम्मान कर इस सेवा का विधिवत शुभारम्भ किया।

ये भी पढ़ें – पर्यटन को बढ़ाने ज्योतिरादित्य सिंधिया के 9 सूत्र, ऐसी होगी पूरी प्लानिंग

श्री सिंधिया ने महिला कंडक्टर्स का सम्मान करते हुए इसे नारी सशक्तिकरण का उदारहण बताया उन्होंने कहा कि मैं इस सेवा की शुरुआत से बसों में सफर कर रही महिलाओं में भी सुरक्षा का भाव आएगा। स्मार्ट सिटी सीईओ श्रीमती जयति सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि स्मार्ट सिटी की सूत्र सेवा योजना के तहत शहर में 13 सिटी बस चल रही हैं, जबकि 14 इंटरसिटी बसें दूसरे शहरों में आ-जा रही हैं।

ये भी पढ़ें – पेंशनर्स के लिए खुशखबरी, इतनी बढ़ सकती है पेंशन, जानें क्या है नई अपडेट

उन्होंने बताया कि अभी 8 महिला कंडक्टर्स को सिटी बस पर तैनात किया है। शेष 4 महिलाओं को शहर के बाहर जाने वाली ग्वालियर-भिंड, ग्वालियर-गुना और ग्वालियर-शिवपुरी बस में तैनात किया गया है। जल्द ही 10 महिलाओं को बतौर ड्राइवर (female driver) नौकरी दी जाएगी। इसके लिए केरल में बात चल रही हैं। वहां से 10 महिला चालकों को लाया जाएगा। इसके बाद संख्या दस और बढ़ा दी जाएगी।

ये भी पढ़ें – सीएम शिवराज बोले-दोषी बख्शा नहीं जाएगा, अस्‍पतालो में फायर सेफ्टी ऑडिट के निर्देश

उधर स्मार्ट सिटी की बसों पर तैनात की गई महिला कंडक्टर इस पहल से बहुत खुश हैं वे कहती है कि इससे महिलाओं और  बच्चियों के बीच सुरक्षा का भाव बनेगा, वे निश्चिन्त होकर बस में यात्रा कर सकेंगी।