नलों में आ रहा पीला पानी, अधिकारियों का दावा, नुकसानदायक नहीं

-Yellow-water-coming-in-the-pipes-

ग्वालियर। गर्मी  में पारा चढ़ते ही पानी की खपत बढ़ गई है, लेकिन वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में लीकेज और कहीं कहीं पाइप लाइन फूटी होने के कारण पानी की समस्या बढ़ गई है। इतना ही नहीं शहर के कई क्षेत्रों में पीले पानी की भी सप्लाई शुरू हो गई है। जिसे लेकर शहरवासी चिंतित हैं और पानी को साफ करने के लिए फिटकिरी का प्रयोग कर रहे हैं। उधर निगम के अधिकारी पानी की पूरी तरह शुद्द बता रहे हैं। 

पेयजल समस्या से जूझ रहे ग्वालियर के कई क्षेत्रों के निवासी अब पीले पानी की समस्या से जूझ रहे हैं । बीते रोज आनंद नगर, विनय नगर, घोसीपुरा, उपनगर ग्वालियर, मुरार, हुरावली आदि क्षेत्रों में पीले पानी की सप्लाई हुई । घबराए लोगं ने फिटकिरी खरीदकर पानी को शुद्द किया । शिकायत करने पर मालूम चला कि ट्रीटमेंट प्लांट में क्लोरीन की मात्रा अधिक हो जाने के कारण ऐसा हुआ और शिकायत आने के बाद मात्रा को कम कर दिया गया, वहीं निगम के पीएचई के कार्यपालन यंत्री आरएन करैया ने दावा किया कि पानी शुद्द है.. और इससे शरीर को कोई नुकसान नहीं है। 

दरअसल पिछले दिनों नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन ने मोतीझील स्थित वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण किया था, इस ट्रीटमेंट प्लांट में तिघरा डेम से कच्चा पानी आता है जिसे क्लोरीन से शुद्द किया जाता है। और जब निगम आयुक्त निरीक्षण पर पहुंचे तो उन्होंने पानी शुद्द करने की प्रक्रिया देखी और क्लोरीन की मात्रा बढ़ाने का सुझाव दिया जिसके बाद क्लोरीन की मात्रा बढ़ते ही पानी पीला हो गया था।