नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी की कलाई पर राखी की जगह बंधी हथकड़ी, 7 साल से था फरार

इस मामले में अभी मुख्य आरोपी का भाई और बहन फरार हैं।

Gangrape-with-seven-year-old-girl-in-singrauli-

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  ग्वालियर की हजीरा थाना पुलिस (Gwalior Police) ने नाबालिग से दुष्कर्म (Rape of Minor) के एक ऐसे आरोपी को गिरफ्तार किया है जो सात साल से पुलिस को चकमा दे रहा था। पुलिस ने आरोपी का सहयोग करने वाली उसकी भाभी को भी गिरफ्तार किया है। दुष्कर्म के आरोपी के खिलाफ स्थाई गिरफ़्तारी वारंट था जबकि उसकी भाभी के खिलाफ गिरफ़्तारी वारंट था।  इस मामले में आरोपी का एक भाई और बहन फरार चल रहे हैं।  पुलिस ने मुख्य आरोपी और उसकी भाभी को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है।

पुलिस ने सात साल से फरार चल रहे नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी को उसकी बहन के घर से उस समय गिरफ्तार किया जब वो राखी बंधवाने आया था। आरोपी की मौजूदगी की सूचना पर जब पुलिस गोवर्धन कॉलोनी पहुंची तो वहां राखी  तयारी चल रही थी, बहन भाई की कलाई पर राखी बांध पाती उससे पहले ही पुलिस ने उसे हथकड़ी पहना दी। हालाँकि बहन की गुहार पर पुलिस का दिल पसीज गया और आरोपी को गिरफ्तार करने गए एएसआई शैलेन्द्र सिंह चौहान ने आरोपी के माथे पर तिलक करने और हाथ में राखी बांधने के अनुमति दे दी।  पुलिस ने यहीं से आरोपी की मददगार उसकी भाभी को भी गिरफ्तार कर लिया।

ये भी पढ़ें – MP School : अब तक 37 हजार से ज्यादा स्कूलों को लाभ, जानें क्या है सरकार की योजना

जानकारी के मुताबिक 18 दिसंबर 2014 को गदाईपुरा निवासी एक मां ने शिकायत दर्ज कराई थी कि उसकी 14 साल की नाबालिग बेटी को एक युवक शादी का झांसा देकर भगा कर ले गया है। शिकायत के बाद पुलिस ने दुष्कर्म और पोक्सो एक्ट की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया। पुलिस ने अपनी तफ्तीश के बाद 47 दिन बाद नाबालिग को नागपुर से बरामद कर लिया।  नाबालिग ने आरोपी द्वारा शादी करने के लिए अपहरण करने और दुष्कर्म करने की बात बताई।  नाबालिग पीड़िता ने बताया कि आरोपी के इस काम में उसके बड़े भाई , भाभी और छोटी बहन ने भी साथ दिया।

ये भी पढ़ें – मप्र उपचुनाव पर लगा ग्रहण! HC ने चुनाव आयोग से मांगा जवाब, 8 सितंबर को अगली सुनवाई

नाबालिग पीड़िता के बयान के बाद पुलिस की दबिश में मुख्य आरोपी और उसका भाई फरार हो गए लेकिन नागपुर से आरोपी की भाभी और छोटी बहन गिरफ्तार हो गए।  बाद में दोनों महिलाओं को जमानत मिल गई लेकिन फिर दोनों महिलाएं भी बेल जम्प कर फरार हो गई।  पुलिस लगातार आरोपियों पर नजर रख रही थी। केस की डायरी एएसआई शैलेन्द्र सिंह के पास थी।

ये भी पढ़ें – भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की प्रदेश कार्यकारिणी पर बवाल, कांग्रेस ने पूछे सवाल

एएसआई शैलेन्द्र सिंह चौहान और उनकी टीम मुख्य आरोपी की मां और छोटी बहन पर नजर रखे हुई थी , लेकिन ये लोग बार बार किराये का घर बदल कर पुलिस को चकमा दे रहे थे। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली कि मुख्य आरोपी अपनी भाभी के साथ राखी पर घर आया है।  सूचना मिलते ही पुलिस घर गोवर्धन कॉलोनी पहुँच गई और दुष्कर्म के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया साथ में उसकी भाभी को भी गिरफ्तार कर  लिया। पुलिस ने दोनों आरोपियों को आज सोमवार को पोक्सो कोर्ट में पेश किया जहाँ से दोनों को जेल भेज दिया गया। इस मामले में आरोपी का बड़ा भाई जिसके खिलाफ स्थाई गिरफ़्तारी वारंट है और बहन जिसके खिलाफ गिरफ़्तारी वारंट हैं दोनों फरार हैं जिनकी तलाश जारी है।

नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी की कलाई पर राखी की जगह बंधी हथकड़ी, 7 साल से था फरार नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी की कलाई पर राखी की जगह बंधी हथकड़ी, 7 साल से था फरार