मंत्रीजी के तमतमाये तेवर- “गलती की तो उलटे लटकाए जाएंगे,अधिकारी हो या उद्योगपति”

हरदा/भवानी शंकर पाराशर

कृषि मंत्री कमल पटेल (agriculture minister kamal patel) ने सख्त लहजे में चेतावनी दी है कि ईमानदार व्यापारियों को परेशान करने वाले अधिकारियों (officers) को उल्टा लटका देंगे। साथ ही साथ उन्होने उन व्यापारियों और उद्योगपतियों (industrialists) को भी यहीं चेतावनी दी है कि अगर किसानों के साथ छल किया तो उनके साथ भी यही रवैया अपनाया जाएगा। शिवराज सरकार (shivraj govt) के रहते हुए प्रताड़ना झेल चुके वर्तमान में कृषि मंत्री कमल पटेल (kamal patel) के तेवर मंत्री बनने के बाद से ही सख्त नजर आ रहे हैं। अधिकारियों के साथ पहली ही बैठक में उन्होंने अवैध उत्खनन को लेकर सख्त चेतावनी दी थी और अधिकारियों से कहा था कि नर्मदा से अवैध खनन कराने वालों पर हत्या का मामला दर्ज किया जाए क्योंकि सरकार 2017 में नर्मदा को जीवित इकाई मान चुकी है।

कृषि मंत्री हरदा सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात कर रहे थे। यहां उन्होने कहा कि ईमानदार व्यापारी को परेशान करने वाले अधिकारी को वो उल्टा लटका देंगे। नकली खाद के मुद्दे पर बोलते हुए उन्होने कहा कि कांग्रेस (congress) ने खाद की 20 हजार सेम्पलिंग करवाई थी और सेटिंग कर सेम्पलिंग पास करवायी गई। जिन्होंने पैसे नही दिए उनके सेंपल  फेल कर दिए गए। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को इस मामले की रिपोर्ट पेश करने को कहा है और बताया कि वो जल्द ही इस रिपोर्ट को सार्वजनिक करेंगे।

कमल पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री (prime minister) का का सपना है किसानों की आय दुगुना करने का और इसी उद्देश्य को लेकर मैंने मंत्रीपद संभालते ही छापे डलवाने शुरू करवाए। उन्होने कहा कि मैंने पूरे विभाग के अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है जिसे सार्वजनिक किया जाएगा। कृषि मंत्री ने सख्त लहजे में कहा कि हम न खाएंगे न अधिकारियों को खाने देंगे। हम सुशासन देंगे और किसी भी व्यापारी को परेशान किया गया तो अधिकारी को उल्टा लटका देंगे। इसी के साथ अगर किसी इमानदार किसान के साथ व्यापारी या उद्योगपति ने छल किया तो उसे भी उलटा लटका दिया जाएगा।