हरदा में अन्न उत्सव आयोजन, कमल पटेल ने में कन्या पूजन कर लिया मां अन्नपूर्णा का आशीर्वाद

हरदा, भवानीशंकर पाराशर। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने हरदा में आयोजित अन्न उत्सव में गरीब परिवारों को राशन के लिए पात्रता पर्ची प्रदान की। यह गरीब परिवार बीपीएल राशन कार्ड होने के बावजूद राशन से वंचित थे। कृषि मंत्री कमल पटेल ने इस मौके पर कन्याओं का पूजन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के तहत प्रदेश के 37 लाख परिवारों को राशन की पर्ची प्रदान करने का मुख्य आयोजन भोपाल में हुआ जहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी जिलों में पात्रता पर्ची के वितरण की औपचारिक शुरुआत की। हरदा जिले में 7744 परिवार के 26673 लोगों को इसका लाभ मिलेगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार ने इस दिशा में कोई कार्य नहीं किया लेकिन जैसे ही प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी और उन्हें मंत्री पद मिला उन्होंने तत्काल गरीबों को अनाज दिलाने की पहल की। तत्कालीन खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के साथ इस योजना की रणनीति बना ली गई जो आज पूरी हो रही है। उन्होंने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है, मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार गांव, गरीब और किसानों की सरकार है इन वर्गों की समस्याओं को दूर करने के लिए सरकार कोई कमी नहीं छोड़ेगी।

कमल पटेल ने कहा कि हमारी सरकार का दायित्व है कि गरीब की थाली कभी खाली नहीं रहे और इसके लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे। आज जिन गरीब परिवारों को पात्रता पर्ची दी गई है उन्हें इसके आधार पर प्रति परिवार 5 किलो अनाज एक रुपए किलो के भाव से दिया जाएगा।

मातृशक्ति के सम्मान से मिलता है अन्नपूर्णा का आशीर्वाद

हरदा में आयोजित अन्न उत्सव का कृषि मंत्री कमल पटेल ने मातृशक्ति का अभिनंदन और पूजन करते हुए शुभारंभ किया। कार्यक्रम में जिला कलेक्टर संजय गुप्ता, पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत दिलीप यादव, अपर कलेक्टर  प्रियंका गोयल, अपर कलेक्टर जे पी सैयाम एवं भाजपा जिला अध्यक्ष अमर सिंह मीणा, नगर पालिका अध्यक्ष सुरेंद्र जैन, जनपद अध्यक्ष फुन्दाबाई, जिला पंचायत उपाध्यक्ष मनीष निसोद, मंडल अध्यक्ष विनोद गुर्जर सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। मंच पर कन्याओं को स्थान देकर कमल पटेल ने उनके पग पखारकर आशीर्वाद लिया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि जिस देश और गांव में मां, बहन और बेटियों की पूजा की जाती है वहां मां का आशीर्वाद मिलता है और मां अन्नपूर्णा की कृपा बनी रहती है, इसलिए आज अनाज वितरण का कार्यक्रम हो रहा है तो मातृशक्ति की पूजा करके ही इसे आरंभ किया जाना चाहिए।