CMHO ऑफिस की महिला लिपिक रिश्वत लेते रंगेहाथों पकड़ाई, दफ्तर में हड़कंप

हरदा| मध्य प्रदेश के हरदा में लोकायुक्त की टीम ने एक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) कार्यालय में स्थापना शाखा की महिला लिपिक को 2 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा। यह रिश्वत विभाग के ही एक कर्मचारी के समयमान वेतनमान की बकाया राशि के भुगतान के एवज में मांगी गई थी| सोमवार को भोपाल लोकायुक्त ने रंगेहाथों लिपिक को गिरफ्तार कर लिया| 

जानकारी के मुताबिक लक्ष्मी पति प्रहलाददास शर्मा (55) सीएमएचओ ऑफिस में सहायक ग्रेड-2 के पद पर सेवारत हैं। राष्ट्रीय कुष्ठ नियंत्रण कार्यक्रम में सुरेंद्र पिता प्रेमनारायण चौधरी एनएमए (नॉन मेडिकल असिस्टेंट) के पद पर पदस्थ हैं। चौधरी को अपनी सर्विस बुक अपडेट कराना था। साथ ही समयमान वेतनमान का लाभ भी लेना था। सुरेंद्र चौधरी ने लोकायुक्त पुलिस को 7 जनवरी को शिकायत की थी कि लिपिक लक्ष्मी शर्मा उससे 2 हजार रुपए रिश्वत मांग रही है। चौधरी ने लोकायुक्त को शर्मा से मोबाइल पर हुई रिश्वत की मांग संबंधी बातचीत का आडियो भी दिया था।  

लोकायुक्त पुलिस में निरीक्षक नीलम पटवा, निरीक्षक संजय शुक्ला व निरीक्षक उमा कुशवाह सहित 10 सदस्यीय टीम दोपहर करीब २.३० बजे सीएमएचओ कार्यालय पहुंची। लोकायुक्त पुलिस द्वारा बताए अनुसार सुरेंद्र 5-5 सौ रुपए के दो नोट और 100-100 रुपए के 10 नोट कुल 2 हजार रुपए लेकर श्रीमती शर्मा को देने उनके केबिन में पहुंचा। उन्होंने उससे रुपए लेकर अपने ड्रॉज में रखे, तभी लोकायुक्त पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। इसके बाद टीम ने वहीं पर अन्य विभागीय कार्रवाई की। इधर, लिपिक के रिश्वत लेते पकड़ाने की खबर फैलते ही विभाग में सन्नाटा छा गया|