हरदा : एक साथ उठी पूरे परिवार की अर्थियाँ, पति-पत्नी और दो बेटियों की अंतिम यात्रा देख फूट-फूट कर रोए लोग

jabalpur accident

हरदा, डेस्क रिपोर्ट। रविवार को हरदा में एक ही परिवार के चार लोगों की उठी अर्थियों ने सबको रुला दिया, शनिवार को देवी पूजन के लिए हरदा से उन्नाव (उप्र) जा रहा हरदा का शुक्ला परिवार सागर के पास सड़क दुर्घटना का शिकार हो गया था। इस हादसे में परिवार के चार सदस्यों की मौत हो गई, हादसा इतना भीषण था कि गाड़ी को सब्बल से तोड़कर शव निकालने पड़े थे, हादसे में शुक्ला दंपती सहित उनकी दोनों मासूम बेटियां की दर्दनाक मौत हो गई। गौरतलब है कि हरदा के छीपानेर रोड़ पर रहने वाला शुक्ला परिवार शनिवार को हरदा से निकला था। भोपाल में बड़े भाई के घर रूका और भोपाल से रविवार सुबह खुशी-खुशी अष्टमी पूजन के लिए उन्नाव में अपने पैतृक गांव खरेली के लिए दो अलग-अलग कारों से निकला। इसमें एक कार सागर-राहतगढ़ मार्ग पर बेरखेड़ी के पास हादसे का शिकार हो गई।

यह भी पढ़ें… सागर-राहतगढ़ में सड़क हादसा, ट्रक ने कार को मारी टक्कर, एक ही परिवार के 4 सदस्यों की मौत

सोमवार सुबह जब छीपानेर के रोड़ स्थित मकान से एक साथ पति-पत्नी और दो बेटियों की अर्थी उठी तो देखने वालों की आँखों से आँसू बह निकले, इस हृदयविदारक घटना के बाद पूरे शहर में शोक की लहर है। हादसा सागर- राहतगढ़ के रास्ते में हुआ, जिसके बाद चारों मृतकों के शव को एंबुलेंस के जरिए सागर से हरदा लाया गया। वहीं कुछ देर बाद शवों को शांति वाहन से मुक्तिधाम ले जाया गया। यहां पर पति-पत्नी के लिए अलग-अलग और दोनों बेटियों को एक ही चिता पर मोहित के चाचा के बेटे ने मुखाग्नि दी।