मध्यप्रदेश : कमल पटेल का नायकावतार, फिल्मी अंदाज मे किया ये काम

हरदा, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में ग्रीष्मकालीन मूंग फसल की सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा रही है।इस बार मूंग की फसल की बंपर पैदावार हुई है तो सरकार ने भी किसानों को उनकी फसल का वाजिब दाम दिलाते हुए जगह-जगह उपार्जन केंद्र खोले हैं। साथ ही उपार्जन केंद्रों पर फ्लैट कांटो से उनकी फसल की तुलाई हो रही है जिससे किसानों को आवागमन के समय के साथ लंबी कतारों से छुटकारा मिला है, दूसरी ओर मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री एवं किसान नेता कमल पटेल भी मुस्तैद होकर नायक फिल्म के हीरो की तरह छापामार कार्रवाई कर रहे हैं। वे अचानक से मूंग उपार्जन केंद्र पर पहुंचते हैं। पहुंचते ही जहां किसान की फसल तुल रही होती है। वहा छापा मारते हैं और चेक करते हैं कि किसान की फसल की सही तुलाई हो रही है या नहीं। किसानों से पूछते हैं उन्हें एसएमएस मिल रहे हैं या नहीं। उनके द्वारा अचानक मारे जा रहे छापों से किसानों की फसल की तुलाई करने वालों में हड़कंप मच गया है।

यह भी पढ़ें…. सीएम से बातचीत के बाद मंत्री सिसोदिया का यू टर्न, बोले “ना शिकायत थी, ना है”

शुक्रवार को मंत्री पटेल ने देवास जिले में छापामारी की थी उसके बाद शनिवार को हरदा जिले में विभिन्न मूंग उपार्जन केंद्रों पर उन्होंने छापा मारकर औचक निरीक्षण किया और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस बीच उन्होंने किसानों से संवाद भी किया। हरदा जिले के ग्राम कड़ोला में मां रेवा,मां नर्मदा,मां अमृता वेयर हाउस छापा मारते हुए औचक निरीक्षण किया। छापामारी कार्रवाई के दौरान मंत्री पटेल ने किसानों के लिए की गई व्यवस्थाओं के प्रति संतुष्ट दिखे। उन्होंने किसानों से संवाद करते हुए कहा कि 100 में से 90 किसान छोटे है इसलिए सरकार छोटे किसानों की चिंता कर रही है। उनकी फसल की खरीदी पहले की जा रही है।पहले गेहूं की फसल आने के बाद चना, सरसों, मसूर फसल की खरीदी होती थी लेकिन केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के मुख्यमंत्री और मेरे कृषि मंत्री बनते से ही हमारी सरकार ने निर्णय लिया कि गेहूं की फसल के पूर्व चना,सरसों,मसूर फसलों की खरीदी समर्थन मूल्य पर सरकार करेगी ताकि इन फसलों का उत्पादन करने वाले किसानों को उनका उचित दाम मिल सके।सरकार ने खरीदी की लिमिट को भी बढ़ाया जिस से10 हजार करोड़ से ज्यादा राशि का फायदा किसानों को हुआ।

यह भी पढ़ें… हाई कोर्ट ने आवेदकों को दी बड़ी राहत, 60 दिन के भीतर मिलेगी पसंद की पोस्टिंग, गृह विभाग और DGP को मिले निर्देश

मंत्री पटेल ने उपार्जन केंद्र पर अपनी मूंग की फसल लेकर किसान की फसल का निरीक्षण किया और उनकी फसल की गुणवत्ता के लिए किसान को धन्यवाद दिया। किसान ने बताया कि उन्होंने 26 एकड़ में मूंग की फसल उगाई थी जिससे उन्हें 130 क्विंटल मूंग फसल की पैदावार हुई है। सरकार के द्वारा समर्थन मूल्य पर खरीदी करने से उन्हें इस बार लगभग पौने तीन लाख रुपए का अतिरिक्त लाभ मिला है सरकार समर्थन मूल्य पर खरीदी नहीं करती तो हमें ओने पौने दाम में व्यापारियों को बेचना पड़ता। जिससे हमें अतिरिक्त लाभ नहीं मिल पाता। लाभ पहुंचता तो व्यापारियों को। समर्थन मूल्य पर फसलों की खरीदी से किसान की आय 2 गुना से ज्यादा अब हो रही है। इसलिए हम सब किसान भाई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और हमारे कृषि मंत्री कमल पटेल को धन्यवाद देते हुए बधाई देते हैं कि उन्होंने किसानों की चिंता की।