शंकराचार्य का बड़ा बयान-विहिप के मॉडल पर बनेगा राम मंदिर

भवानीशंकर पाराशर/हरदा। राम जन्म भूमि ट्रस्ट (ramjanmbhumi trust) के सदस्य और श्री ज्योतिष पीठाधीश्वर जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा है कि विश्व हिंदू परिषद ( vishva hindu parishad) ने 30 साल पहले जो मॉडल बनाया था, राम मंदिर उसी मॉडल के आधार पर बनाया जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए भारत के हर नागरिक से 1 रू से 11 रू तक लेकर इसका निर्माण किया जाएगा। शंकराचार्य हरदा में हंडिया में नर्मदा परिक्रमा करने आए थे। राम मंदिर आंदोलन के दौरान विश्व हिंदू परिषद की ओर से प्रस्तावित मॉडल में मंदिर की कुल लंबाई 268 फीट 5 इंच और चौड़ाई 140 फीट व धरातल से शिखर की ऊंचाई 128 फीट निर्धारित की गई थी ।इस नाम के आधार में भूतल के अलावा प्रथम तल दर्शाया गया था ।भूतल पर गर्भ में विराजमान रामलला की स्थापना प्रस्तावित है। जबकि प्रथम तल में राम दरबार की स्थापना की जानी थी। हालांकि बीच में इस तरह का प्रस्ताव भी आया था कि इस मॉडल में एक तल अतिरिक्त बनाया जाए।  राम मंदिर निर्माण का कार्य लार्सन एंड टूब्रो (larsen and toubro) कंपनी करेगी कंपनी का कहना है कि वह मंदिर निर्माण का कांटेक्ट नहीं लेगी बल्कि सेवा भाव से इस काम को करेगी। मंदिर का निर्माण तभी प्रारंभ हो सकेगा जब रामलला को नियत स्थान पर विधि-विधान के साथ स्थापित कर दिया जाए।