सप्तमी-अष्टमी पर प्रसिद्ध माता टेकरी पर उमड़ा जन सैलाब, सुरक्षा व्यवस्था में 700 जवान तैनात

यहां सप्तमी-अष्टमी की रात से ही भक्त दर्शन के लिये पहुंचे। यहां एक दिन में 2 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने माता के दर्शन किये। तो वहीं भीड़ के चलते लोगों को इंदौर रोड मार्ग पर 5 किमी पहले ही रोकना पड़ा।

देवास, अमिताभ शुक्ला। नवरात्री (Navratri) पर्व के सप्तमी-अष्टमी दरमियान रात से ही माता तुलजा और चामुंडा भवानी टेकरी पर भक्तों का भव्य उत्साह का नजारा देखने को मिला। यहां लाखों की तादाद में श्रद्दालुओं का जन सैलाब उमड़ गया जिससे यहां का नजारा उज्जैन के सिंहस्थ मेले जैसा दिखाई दिया। वहीं मौके पर तैनात पुलिस प्रशासन ने कड़ी मशक्कत के बाद भीड़ पर काबू पाया। बता दें, यहां सप्तमी-अष्टमी के की रात से 2 लाख लोग दर्शन के लिये पहुंचे। वहीं सुरक्षा व्यवस्था के लिये 700 जवान तैनात रहे।

ये भी देखें- MP: त्योहार से पहले बकाए एरियर्स के भुगतान की मांग, शिक्षक संवर्ग ने दी आंदोलन की चेतावनी

देवास के तुलजा चामुंडा देवी के मंदिर में सप्तमी और अष्टमी देर रात दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ पड़ा। माता की टेकरी के सीड़ी मार्ग, शंख द्वार और धुनि मार्ग सहित रोपवे भक्तों से खचा-खच भरे नजर आए। देवास की सड़कों पर भी भक्तों का अपार उत्साह नजर आया तो वहीं लोगों को इंदौर रोड़ मार्ग पर 5 किमी पहले ही रोकना पड़ा, जहां से श्रद्धालु पैदल माँ की टेकरी पर दर्शन के लिए पहुँचे। पुलिस अधीक्षक डॉ शिवदयाल सिंह के अनुसार नवरात्र के दिनों में 10 लाख से अधिक भक्तों के दर्शन करने का अनुमान है, वही सप्तमी और अष्टमी की रात्रि भी एक दिन में 2 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने माता के दर्शन किये। माता टेकरी पर शारदीय नवरात्र में शनिवार रविवार और सप्तमी अष्टमी पर वर्षों से इसी तरह का भक्तों का सैलाब उमड़ता है। माता तुलजा और चामुण्डा के प्रसिद्ध रक्त पीठ के बारे में यह मान्यता भी है की माँ अपने द्वार पर आने वाले भक्तों को खाली हाथ नहीं लौटाती। ये मंदिर नवरात्र के दिनों में 24 घण्टे खुला भी रहता है।

ये भी पढ़ें- Indore News: लूट की योजना बनाते 8 बदमाश गिरफ्तार, पुलिस ने निकाला जुलूस

पुलिस अधीक्षक डॉ शिवदयाल सिंह के अनुसार लगातार क्राउड कंट्रोल किया गया और देर रात तक पुलिस अधीक्षक माता टेकरी पर ही बने कंट्रोल रूम से 64 सीसीटीवी कैमरों की निगरानी करते नजर आए। पुलिस अधीक्षक के अनुसार 700 से अधिक जवान सुरक्षा में तैनात रहे वहीं 200 जवान रिजर्व में रखे गए। वही प्रशासन के अधिकारी SDM प्रदीप सोनी ने भी चाक चौबंद व्यवस्था करने की बात कही साथ ही सुरक्षा, पानी की व्यवस्था से लेकर माता मंदिरो की व्यवस्था के बारे में जानकारी दी साथ ही बताया कि अलग-अलग शिफ्ट में प्रशासन के तहसीलदार, आरआई, पटवारी से लेकर जिले का अमला माता टेकरी पर भक्तों के लिए व्यवस्था बनाने में जुटा है।