गृहमंत्री की इंदौर में समीक्षा बैठक, Amazon पर FIR के दिये निर्देश, कांग्रेस पर उठाए सवाल

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इंदौर में अमर क्रांतिकारी टंट्या भील के बलिदान दिवस पर होने वाले स्मृति कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। सीएम शिवराज द्वारा 3 व 4 दिसम्बर को महू के पातालपानी में अमर क्रांतिकारी टंट्या भील को श्रद्धा-सुमन अर्पित करने के उद्देश्य से पातालपानी में भव्य कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इस कार्यक्रम की तैयारियों लेकर प्रदेश के गृह, जेल, संसदीय कार्य, विधि विधायी कार्य एवं इंदौर जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को रेसीडेंसी कार्यालय पर सुबह 10:30 बजे एक समीक्षा बैठक ली। बैठक में इंदौर संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा, कलेक्टर मनीष सिंह, पुलिस महानिरीक्षक एवं जिले के अन्य संबंधित अधिकारी शामिल हुए।

ये भी देखें- मंत्री बिसाहूलाल सिंह का विवादास्पद बयान – समानता लाना है तो सवर्ण महिलाओं को घर से खींचकर निकाले बाहर

इंदौर के प्रभारी ने बैठक के बाद मीडिया से बातचीत कर बताया कि जबलपुर के प्रभारी मंत्री वीर शहीद टंट्या भील की जमीन की मिट्टी को लेकर कलश यात्रा शुरू करेंगे। दो अलग अलग यात्रायें धार जिले में एक हो जाएगी और 3 दिसम्बर को इंदौर पहुंचकर सीधे महू जाएगी। जहां एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित कर पातालपानी का टंट्या मामा किया जाएगा। इस आयोजन में करीब 1 लाख लोग शामिल होंगे।

AMAZON पर दर्ज की जाए एफआईआर

बता दे कि इंदौर की लोधा कॉलोनी के बहुचर्चित आदित्य वर्मा सुसाइड मामले में जहर की डिलिवरी ऑनलाइन करने वाली amazon कंपनी पर एफआईआर करने के निर्देश गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दिए हैं। दरअसल, पीड़ित पिता रणजीत वर्मा और अन्य परिजन गृहमंत्री से मिले और उन्होंने कंपनी पर सख्त कार्रवाई की मांग की। बता दें इसके पहले एम.पी.ब्रेकिंग न्यूज के माध्यम से पीड़ित पिता ने गृहमंत्री से मामले में संज्ञान लेने की गुहार लगाई थी। वहीं आज गृहमंत्री से मुलाकात के बाद परिवार को कार्रवाई का भरोसा मिल गया है। गृहमंत्री ने साफ किया कि amazon के जहर डिलीवर करने के मामले में प्रबंधकों पर पुलिसिया अंदाज में कार्रवाई कर उन्हें पूछताछ के लिए लाया जायेगा और उन पर कार्रवाई की जाएगी।

कांग्रेस और दिग्विजयसिंह पर साधा निशाना

इंदौर में मीडिया से बात कर गृहमंत्री और इंदौर के प्रभारी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने राज्यसभा सांसद दिग्विजयसिंह पर जमकर निशाना साधा। वहीं दिग्विजयसिंह के सवाल पर उन्होंने मीडिया से कहा कि उनकों गम्भीरता से कोई नहीं लेता आप भी मत लो। वहीं महबूबा मुफ्ती के हालिया बयान कि उन्हें गांधी और नेहरू वाला हिंदुस्तान चाहिए न कि गोडसे वाला, इस पर डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि ये उस समय नहीं था। उन्होंने जब वो मुख्यमंत्री बनी थी उस समय वो सोचती जब उनके पिताजी केंद्र में मंत्री बने थे उस सरकार में और अब वो बहुत पिछड़ गई हैं। इस बात को कहने में देश उनको समझ गया है।

वहीं उन्होंने इंदौर में कहा कि कमिश्नर प्रणाली के लिए ड्राफ्ट तैयार हो गया है और इस हफ्ते इंदौर में कमिश्नर प्रणाली लागू हो जाएगी। वही कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजयसिंह द्वारा ट्वीट के खनिज मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह के चुनाव क्षेत्र में अवैध खनन के मय प्रमाण उठाए गए सवाल पर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि दिग्विजयसिंह सिंह कांग्रेस के नेता है वो भाजपा के नेताओं पर आरोप लगाते रहते हैं। गृहमंत्री ने कहा कि दिग्विजयसिंह इस बात का जबाव दें कि जब उनकी पार्टी की सरकार में उस वक्त के वनमंत्री उमंग सिंघार ने उन पर आरोप लगाया था कि मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा खनिज व शराब माफिया दिग्विजयसिंह है, उसका जबाव उन्होंने आज तक क्यों नहीं दिया और उमंग सिंघार ने खंडन क्यों नहीं किया।