प्रतिबंध के बावजूद खूब बिक रही शराब, प्रशासन कर रहा टोकन कार्रवाई

होशंगाबाद, राहुल अग्रवाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा अपने पिछले कार्यकाल में आदेश जारी हुआ था कि नर्मदा किनारे के क्षेत्रों में शराब की बिक्री पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाया जाता है। पर इसका असर दुकानें बंद होने तक ही हुआ, जबकि पूरे जिले में सबसे ज्यादा शराब की बिक्री होशंगाबाद शहर में ही हो रही है। इसका मुख्य कारण पुलिस और माफियाओं की साठगांठ है।

हालत ये है कि हाईवे के ढाबे रात होते ही मयखाने बन जाते हैं। कच्ची शराब बनाने वाले अपना काम बेधड़क कर रहे हैं वहीं अंग्रेजी शराब दलालों द्वारा इटारसी से लेकर ज्यादा रेट पर बेची जा रही है। दुकानें बन्द होने से सुरा प्रेमियों को और सहूलियत हो गई है। पहले ठेके तक जाना पड़ता था पर अब शराब खुद घर पहुँच रही है और ये सब दलालों की मेहरबानी है। अब 19 तारीख को यहां मुख्यमंत्री आ रहे हैं और आबकारी विभाग अपना रिकॉर्ड सही करने में लगा हुआ है। छोटे स्तर पर कच्ची शराब पकड़कर वाहवाही लूटी जा रही है।

पुलिस की नजरों से दूर अवैध शराब का काराेबार चल रहा है। शहर के सभी चाैराहाें और मुख्य मार्गाें पर पुलिस विभाग ने कैमरे लगाए हैं। लेकिन शराब का अवैध काराेबार पुलिस के कैमराें की नजर से दूर हैं। लेकिन आमजन के लगाए कैमराें में जरुर शराब का अवैध काराेबार कैद हाे रहा है। हालांकि बहुत से लाेग अपने कैमराें में कैद हुए ऐसे घटनाक्रम बताने से भी बच रहे हैं। शहर के बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन राेड, ग्वालटाेली राेड, काेठीबाजार राेड, सदरबाजार, जुमेराती, भीलपुरा, रसूलिया, हरदा बायपास सहित शहर का ऐसा काेई माेहल्ला नहीं छूट रहा है जहां कि शराब न पहुंच रही हाे। साथ ही शराब की घर पहुंच सेवा में अंग्रेजी और देशी दाेनाें ही शराब दुकान से कम कीमत पर मिल रही है। अभी इटारसी और आसपास के शहरों से कम दामों पर शराब लेकर 200 से 300 रुपये कम में भी बेची  जाती है। इससे सरकार के राजस्व का भी नुकसान हो रहा है।

आज आबकारी विभाग द्वारा तीन लाख चालीस हजार की शराब जब्त की गई। शहर के बालागंज एवं ईदगाह क्षेत्र में आबकारी एवं पुलिस की संयुक्त कार्यवाही की गई। सुबह 7 बजे से की गई कार्यवाही में भारी मात्रा में अवैध महुआ लाहन, हाथभट्टी शराब एवं शराब बनाने में प्रयुक्त अवैध सामग्री जब्त की गई। आज की कार्यवाही में 5600 किलो महुआ लहान, 250 लीटर कच्ची शराब एवं 200 प्लेन शराब के क्वार्टर जप्त कर आबकारी अधिनियम की धारा 34.1(क) के तहत 4 प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिये गए। अवैध महुआ लहान के सैंपल लेकर मौके पर नष्ट किये गये।