Hundreds-of-people-stranded-in-a-flood-in-the-river-in-panchmari-

होशंगाबाद। प्रदेश भर में लगातार हो रह बारिश से नदी नाल उफान मार रहे हैं, ऐसे में कई जगह अचानक नदियों में बहाव भी बढ़ रहा है| ऐसी ही एक मामला पचमढ़ी से सामने आया है। जहां नागद्वारी मेले में पहुंचे श्रद्धालु काजरी नदी में अचानक आई बाढ़ के चलते फंस गए। सैंकड़ों लोगों की जान इस खतरे में फंस गए, जिन्हे स्थानीय प्रशासन ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर सुरक्षित निकाला गया| जिप्सी और रस्सी के सहारे एक-एक कर नदी में फंसे लोगों को निकाला गया है|

दरअसल, नागपंचमी के मौके पर पचमढ़ी में नागद्वारी का मेला लगता है। सतपुड़ा की पहाड़ियों पर बसे पचमढ़ी का नागद्वार स्वामी का ये मंदिर बड़े दुर्गम स्थान पर है। यहां पहुंचना आसान नहीं है, तकरीबन 15 किमी का पहाड़ी सफऱ तय करके लोग मंदिर तक पहुंचते हैं और बारिश के चलते हालात और भी मुश्किल हो जाते हैं। लगातार हो रही बारिश से काजरी नदी में अचानक बाढ़ आ गई| जिसमे नागद्वारी मेले में शामिल होने गये श्रद्धालु फंस गए| जानकारी मिलते ही स्थानीय प्रशासन हरकत में आया और रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया। जिप्सी और रस्सी के सहारे एक-एक कर नदी में फंसे लोगों को निकालना शुरू किया गया। धीरे-धीरे नदी में पानी बढ़ रहा था। कई लोग कमर तक पानी में डूबे हुए थे। ऐसे में तेजी से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाते हुए लोगों को बाहर निकाला गया।  बाढ़ में फंसे लोगों का वीडियो वायरल हो रहा है|

पचमढ़ी में  1 अगस्त से 6 अगस्त तक नागद्वारी मेला लगा हुआ है । नागद्वारी मेले में महारष्ट्र , गुजरात सहित मध्य प्रदेश भर के श्रद्धालु पहुचाते हे। नागद्वारी मंदिर की विशेषता है कि ये मंदिर साल में एक बार ही दर्शन के लिए खोला जाता है।इस मंदिर में लोग संतान संबंधी समस्याओं के निराकरण के लिए पहुंचते हैं। जिन्हे बारिश के मौसम में दुर्गम पहाड़ी रास्तों से गुजरना होता है|